बिहार में 200 बालू घाटों की होगी नीलामी

Prakash Gupta
2 Min Read

बिहार में बालू खनन का मुद्दा हमेशा से चर्चा में रहा है. कई कोशिशों के बाद भी अवैध रेत खनन (Sand Mining) के मामलों पर काबू नहीं पाया जा सका है. बिहार सरकार ऐसी घटनाओं को रोकने की कोशिश कर रही है. बिहार राज्य सरकार ने इस संबंध में निर्णय लिया है. सरकार ने बालू घाटों की नीलामी की घोषणा कर दी है. बालू घाटों की नीलामी की तिथि भी तय कर दी गयी है.

ई-नीलामी होगी

रेत खनन के लिए ई-नीलामी की जाएगी। खान एवं भूतत्व विभाग द्वारा 15 जनवरी तक 200 बालू घाटों की नीलामी करने का निर्देश जारी किया गया है. खान एवं भूतत्व विभाग द्वारा जिलों के खनिज विकास पदाधिकारियों को जिला सर्वेक्षण रिपोर्ट को संशोधित करने और इसके लिए सीआईएए से अनुमोदन लेने का निर्देश दिया गया है. जिन बालू घाटों की अब तक नीलामी नहीं हुई है. इसके बाद टेंडर प्रक्रिया शुरू होगी। बिना कारण नीलाम किये गये घाटों से खनन नहीं करने पर संबंधित जिला पदाधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की चेतावनी भी दी गयी है.

सिर्फ 75 घाटों से खनन शुरू हुआ

29 जिलों के 267 बालू घाटों की नीलामी का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया गया है. लेकिन अब तक सिर्फ 75 घाटों से ही खनन शुरू हो सका है. कुछ घाटों का क्षेत्रफल बड़ा होने के कारण यहां नीलामी नहीं हो सकी है और खनन में देरी हो रही है.

Share This Article