Metro

नई वैक्सीनेशन पॉलिसी का असर, दिल्ली के प्राइवेट अस्पतालों में अब स्लॉट खाली

नई दिल्ली
पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से वैक्सीनेशन की नई पॉलिसी की घोषणा किए दो दिन भी नहीं बीते हैं, लेकिन इसका असर अभी से दिखाई देने लगा है। एक ही दिन में प्राइवेट अस्पतालों में डोज 1 और डोज 2 के पर्याप्त स्लॉट खाली हैं। अभी तक ऐसा देखने को नहीं मिला था। हालांकि कोवैक्सीन के स्लॉट अब भी बुक हैं।

लोगों के अनुसार 21 जून से नई पॉलिसी लागू हो रही है। जिसके बाद कई जगहों पर वैक्सीनेशन निशुल्क होंगे। वहीं, प्राइवेट अस्पतालों में भी वैक्सीन के रेट कम हो जाएंगे। ऐसे में वह अभी नई दरों का इंतजार कर रहे हैं। इस समय प्राइवेट अस्पताल कोविशील्ड के लिए 650 से लेकर 1800 रुपये तक चार्ज कर रहे हैं। लेकिन नई पॉलिसी के बाद इनकी कीमतें काफी कम हो जाएंगी। ऐसे में वह अब उंची कीमतों पर वैक्सीन नहीं लेना चाहते। लगभग सभी जिलों में यही स्थिति है। डाबड़ी के सुजीत वर्मा ने बताया कि वह पिछले कई दिनों से अपने परिवार के लोगों का वैक्सीनेशन करवाने के लिए स्लॉट बुकिंग की कोशिश कर रहे हैं। बड़ी मुश्किल से दो लोगों के लिए 1100 रुपये में टीके लगवाए हैं। बीते सोमवार तक वह अपने और अपनी पत्नी के लिए स्लॉट ढूंढ रहे थे, लेकिन अब उन्होंने कोशिशें बंद कर दी हैं। 21 जून से सस्ते में वैक्सीन लगवाएंगे।

राजधानी में महज एक अस्पताल ईस्ट दिल्ली का धर्मशिला नारायण अस्पताल 650 रुपये में कोविशील्ड वैक्सीन बुक कर रहा है। यहां पर 8 जून के लिए वैक्सीनेशन के सभी स्लॉट बुक हैं। लोगों के अनुसार प्राइवेट अस्पताल में जो लोग वैक्सीन लेना चाहते हैं, उससे इससे कम में वैक्सीन नहीं मिलेगी। वहीं, कोवैक्सीन के लिए कई लोग ऐसे हैं, जिनकी दूसरी डोज का समय खत्म हो रहा है। इसलिए वह 10 दिन के इंतजार की स्थिति में नहीं हैं। कुछ प्राइवेट अस्पताल संचालकों ने माना कि बुकिंग पर कुछ असर पड़ा है।

प्राइवेट अस्पतालों ने स्लॉट भी बढ़ाए
वहीं, कुछ प्राइवेट अस्पतालों ने वैक्सीन के स्लॉट भी बढ़ा दिए हैं। जिसकी वजह से अब काफी संख्या में स्लॉट उपलब्ध हैं। द्वारका के एक अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार सोमवार तक 500 के करीब स्लॉट बुक किए जा रहे थे, लेकिन अब एक एक दिन में 1500 से 2000 स्लॉट बुक किए जा रहे हैं। स्लॉट खाली दिखने की एक बड़ी वजह यह भी है कि अब ज्यादातर प्राइवेट अस्पताल नई वैक्सीन पॉलिसी लागू होने से पहले अधिक से अधिक वैक्सीनेशन करने की रणनीति पर काम कर रहे हैं। कई प्राइवेट अस्पतालों में अब 1000 से 1600 तक स्लॉट प्रतिदिन खाली दिखाई दे रहे हैं। जबकि पहले इतने स्लॉट बुक ही नहीं किए जा रहे थे।

Related Articles

Back to top button
close button