Metro

PM मोदी से 10 मिनट के लिए अलग से क्‍या मिले उद्धव ठाकरे, होने लगीं तमाम बातें, समझिए क्‍या है कहानी

मुंबई
कभी एनडीए की विश्‍वस्‍त सहयोगी रही शिवसेना के अध्‍यक्ष और अब महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को नई दिल्‍ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। पीएम के साथ हुई बैठक में मराठा आरक्षण से लेकर कोरोना संकट और ताउते तूफान से हुए नुकसान समेत कई मुद्दों पर बात हुई। यूं तो बैठक में सीएम के साथ डेप्युटी सीएम अजीत पवार और कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण भी मौजूद रहे, लेकिन इसके बाद उद्धव ने पीएम से अलग से 10 के लिए मुलाकात भी की। इसको लेकर कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में ऐसी चर्चा तेज है कि फिर से महाराष्‍ट्र में सत्‍ता परिवर्तन होने जा रहा है। सोशल मीडिया पर भी तमाम अटकलें लगाई जा रही हैं।

हालांकि, उद्धव ठाकरे ने अपनी स्थिति स्‍पष्‍ट कर दी है। उनका कहना है कि वह पाकिस्तान से पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से नहीं बल्कि अपने पीएम से मिलने गए थे। इसमें कोई हर्ज नहीं होना चाहिए। हमने पीएम के सामने महाराष्ट्र की समस्याएं रखीं और बेहद सकारात्मक माहौल में बातचीत हुई। हम भले ही राजनीतिक रूप से साथ नहीं हैं लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि हमारा रिश्ता टूट चुका है। अगर मैं पीएम से अलग से मिलता हूं तो इसमें कुछ गलत नहीं होना चाहिए।

सीएम और पीएम के बेहतर संबंध महाराष्‍ट्र के लिए अच्‍छा: एनसीपी
वहीं, महाविकास आघाड़ी सरकार में शामिल एनसीपी के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने भी सभी अफवाहों को बकवास करार दिया है। उन्‍होने कहा कि उद्धव ठाकरे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दिल्ली में हुई बैठक से डरने की कोई जरूरत नहीं है। हम पांच साल सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और यह कार्यकाल पूरा करेंगे। ठाकरे और मोदी के बीच अलग से हुई मुलाकात से डरने की कोई जरूरत नहीं है। आघाडी सरकार को कोई खतरा नहीं है। मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के बीच बेहतर संबंध होना महाराष्ट्र के लिए अच्छा है।

अपना कार्यकाल पूरा करेगी ठाकरे सरकार: शिवसेना
इसी तरह, शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी। उद्धव ठाकरे और अन्य नेताओं समेत प्रधानमंत्री से हुई मुलाकात के बारे में पूछे जाने पर राउत ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के विभिन्न मुद्दों के संबंध में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, उप मुख्यमंत्री अजित पवार और कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण की बात सुनी। आने वाले दिनों में कोई निर्णायक फैसला लिया जाएगा।’

इसमें आश्‍चर्य की बात क्‍या, हमसे भी मिलते थे पीएम अलग से: फडणवीस
महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री और दिग्‍गज बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने भी इस मुलाकात पर प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि यदि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अलग से मिले हों तो कोई आश्चर्य की बात नहीं है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उन्‍हें स्‍पष्‍ट रूप से अलग से मुलाकात के बारे में जानकारी नहीं है। यदि हम मान भी लेते हैं कि इस तरह की कोई बैठक हुई है तो इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है । फडणवीस ने कहा कि जब वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री थे तो प्रधानमंत्री उनके साथ अलग से विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करते थे । जब मैं प्रधानमंत्री से एक शिष्टमंडल के साथ मिलता था तो वह उनके साथ पांच से दस मिनट तक बात करते थे । बाद में प्रधानमंत्री राज्य से संबंधित मुद्दों पर मेरे साथ अलग से 15 से 20 मिनट तक चर्चा करते थे।

2019 चुनावों में बीजेपी से टूटा था शिवसेना का नाता
गौरतलब है कि अक्‍टूबर 2019 में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों में स्पष्ट जनादेश नहीं आने के बाद मुख्यमंत्री पद को लेकर बीजेपी और शिवसेना में मतभेद इतना गहरा गया कि ठाकरे की पार्टी एनडीए से बाहर गई थी। शिवसेना ने इसके बाद एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर प्रदेश महा विकास आघाडी का गठन किया और ठाकरे ने मुख्यमंत्री के तौर पर सरकार की कमान संभाली।

(एजेंसी इनपुट)

Related Articles

Back to top button