Metro

BJP-संघ नेताओं के UP दौरे क्यों? एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में योगी ने दिए सारे जवाब

लखनऊ
बीजेपी और आरएसएस के वरिष्ठ नेताओं ने हाल में ही लखनऊ दौरे किए। इन दौरों को लेकर यूपी सरकार में बदलाव की अटकलें लगाई जा रही हैं। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने इन अटकलों पर विराम लगा दिया है। उन्होंने कहा कि यूपी में 2022 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी दो-तिहाई बहुमत से जीतेगी।

यूपी में बदलाव के मुद्दे पर पहली बार योगी ने टाइम्स ऑफ इंडिया को खास इंटरव्यू दिया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग इन दौरौं और बैठकों की अलग तरह से व्याख्या कर रहे हैं और एक नया राजनीतिक मोड़ दे रहे हैं, जो निराधार है। उन्होंने कहा, ‘यह सब मीडिया प्रफेशनल्स ने सुर्खियां बटोरने और लोगों का ध्यान खींचने के लिए इसे सनसनीखेज बनाया और बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया।’

‘भाई-भतीजावाद पर नहीं चलती बीजेपी’
सीएम ने कहा, ‘ये मुलाकातें नई नहीं हैं। बीजेपी एक कैडर आधारित पार्टी है जो भाई-भतीजावाद पर नहीं चलती है। पार्टी अपने कैडर को सक्रिय रखती है। इसके लिए वरिष्ठ नेता हर दो महीने में मिलते हैं और राज्य इकाइयों के साथ बैठक करते हैं। हमारे प्रदेश प्रभारी (बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधा मोहन सिंह) महीने में दो बार यूपी आते हैं। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चार महीने पहले खुद लखनऊ का दौरा किया था।’

‘महामारी में नजर नहीं आया कोई भी दल’
योगी ने कहा, ‘पीएम नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के निर्देश के अनुसार हम एक सत्तारूढ़ पार्टी के रूप में, लोगों को राहत देने करने के लिए विभिन्न सेवाओं में लगे हैं। पहली लहर हो या दूसरी लहर, भाजपा और संघ के कार्यकर्ता अपनी सेवाएं देते रहे हैं। अन्य राजनीतिक दल कहीं दिखाई नहीं दिए।’

‘हम राजनैतिक संक्रमण से भी लड़ रहे’
अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के बारे में पूछे जाने पर यूपी सीएम ने कहा, ‘हम किसी भी स्थिति का सामना करने के लिए तैयार हैं। हमने 2014 के लोकसभा चुनाव, 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की। हम न केवल कोरोना वायरस के खिलाफ, बल्कि ‘राजनैतिक संक्रमण’ के खिलाफ भी लड़ाई लड़ रहे हैं। हम पीएम मोदी के नेतृत्व में यह लड़ाई जारी रखेंगे। 2022 में बीजेपी दो तिहाई बहुमत से जीतेगी।

कांग्रेस के सवाल पर बोले- सेवा उनके जीन में नहीं
कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने विभिन्न मुद्दों पर योगी का ध्यान आकर्षित करने के लिए उन्हें पत्र लिखे। इस सवाल पर, योगी ने कहा, ‘वे सुर्खियों में बने रहने के लिए सिर्फ औपचारिकताएं करते हैं। बाकी लोग सिर्फ मीडिया में बने रहने के लिए ट्वीट करते हैं। पहली और दूसरी लहर के दौरान ये लोग कहां थे? वे कभी लोगों की सेवा करने आगे नहीं आए। सेवा करना उनके जीन में ही नहीं है।’

राष्ट्रीय महत्वकांक्षा को नकारा
योगी ने अपनी राष्ट्रीय महत्वाकांक्षा के बारे में लगाई जा रही अटकलों को भी दूर कर दिया। उन्होंने कहा, ‘जब मैं सांसद था तब मेरी कोई महत्वाकांक्षा नहीं थी। आज भी मेरी कोई महत्वाकांक्षा नहीं है। उन्होंने कहा कि वह एक आम सैनिक हैं जो बीजेपी के विजन और पीएम मेदी के कैंपन विका, सुरक्षा और समृद्धि के लिए काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘राज्य सरकार के पिछले चार वर्षों की उपलब्धियां है, उससे ज्यादा खुशी और नहीं हो सकती।’ उन्होंने कहा कि महामारी के बावजूद राज्य आर्थिक विकास और बुनियादी ढांचे का विकास करने में कामयाब रहा है।

‘प्रति व्यक्ति आय में नंबर-1 होगा यूपी’
यूपी सीएम ने कहा, ‘यह सभी को देखना चाहिए कि यूपी अब ऐसा राज्य नहीं है, जहां हर हफ्ते दंगे होते रहे हैं। जाति, समुदाय और भाषा को प्राथमिकता देने के लिए कोई जगह नहीं है। राज्य प्रति व्यक्ति आय के मामले में नंबर एक राज्य होगा।’

Related Articles

Back to top button