Metro

दिल्ली यूनिवर्सिटी में आज से फाइनल एग्जाम, 2.25 लाख स्टूडेंट्स होंगे शामिल

नई दिल्ली
में आज से फाइनल सेमेस्टर/ईयर के एग्जामिनेशन शुरू हो रहे हैं। अंडरग्रैजुएट, पोस्टग्रैजुएट कोर्सेज के इन एग्जामिनेशन में करीब 2.25 लाख स्टूडेंट्स एग्जाम देंगे। स्टूडेंट्स और टीचर्स की एग्जामिनेशन को कैंसल करने की मांग के बीच दिल्ली यूनिवर्सिटी ने फैसला लिया कि फाइनल ईयर/सेमेस्टर के एग्जामिनेशन 7 जून से होंगे क्योंकि हायर स्टडीज से लेकर नौकरी के लिए इन स्टूडेंट्स का रिजल्ट महत्वपूर्ण होता है।

डीयू का कहना है कि 95-97% तक स्टूडेंट्स ने अपने प्रैक्टिकल एग्जाम भी दिए हैं। एग्जामिनेशन ब्रांच का कहना है कि इस बार सभी स्टूडेंट्स ने रिमोट मोड से एग्जामिनेशन देने का फैसला किया है यानी वे घर बैठे यह एग्जाम देंगे। रेगुलर कॉलेज समेत स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (SOL), नॉन कॉलिजिएट वुमंस एजुकेशन बोर्ड (NCWEB) के यूजी और पीजी मिलाकर करीब 2.25 लाख स्टूडेंट्स यह देंगे।

इस बार फिजिकल मोड के लिए ऐप्लिकेशन नहीं
दिल्ली यूनिवर्सिटी के डीन, एग्जामिनेशन ब्रांच प्रो डीएस रावत कहते हैं, रविवार को हमने सभी प्रिंसिपल्स के साथ एग्जामिनेशन को लेकर मीटिंग भी की है। सभी स्टूडेंट्स को एग्जामिनेशन से पहले हिंदी और इंग्लिश में गाइडलाइंस भी ईमेल से भेजी जाएंगी। कोविड की दूसरी लहर के पीक के वक्त ज्यादातर स्टूडेंट्स ने एग्जामिनेशन फॉर्म भरे, इसलिए रिमोट मोड से एग्जाम देने का उन्होंने फैसला किया यानी इस बार सभी घर बैठे यह ऑनलाइन एग्जाम देंगे। फिजिकल मोड यानी कॉलेज आकर एग्जाम देने वाले इस बार कोई भी स्टूडेंट नहीं है। प्रो रावत कहते हैं, कई ब्लाइंड स्टूडेंट्स ने भी हमें एग्जाम देने के लिए घर पर ही राइटर रखने की इजाजत मांगी थी, जो उन्हें दे दी गई है। वैसे कॉलेज ये स्टूडेंट्स को राइटर देता था।

जो स्थिति में नहीं, उनके लिए जल्द रखे जाएंगे एग्जामडीयू के एक्टिंग वीसी प्रो. पीसी जोशी कहते हैं, ज्यादातर स्टूडेंट्स अभी एग्जाम देना चाहते हैं। फाइनल सेमेस्टर/ईयर के प्रैक्टिकल्स भी 95%-97% स्टूडेंट्स ने दिए हैं। दरअसल, फाइनल ईयर स्टूडेंट्स को जॉब के लिए या हायर स्टडीज के लिए अलग अलग देश-विदेश की यूनिवर्सिटी में भी जाना होता है, इसलिए एग्जामिनेशन उनके लिए जरूरी है। मगर फिर भी कुछ स्टूडेंट्स एग्जाम देने की स्थिति में नहीं है, उनके लिए हम एग्जाम रखेंगे और बहुत जल्द रखेंगे। उनका पूरा खयाल रखा जाएगा।

स्टूडेंट्स के लिए गाइडलाइंस

  • क्वेश्चन पेपर डीयू वेबसाइट पर रजिस्टर कर मिलेंगे
  • स्टूडेंट्स को आंसर A4 साइज के पेपर में देने होंगे
  • एग्जामिनेशन 4 घंटे का होगा, जिसमें से 3 घंटे आंसर लिखने के लिए दिए जाएंगे और एक घंटे का इस्तेमाल क्वेश्चन पेपर डाउनलोड करने, आंसरशीट पीडीएफ फॉर्म में स्कैन करने और आंसरशीट पोर्टल पर अपलोड करने के लिए
  • दिव्यांग स्टूडेंट्स को कुल 6 घंटे दिए जाएंगे

अगर आती है कोई दिक्क्त तो
अगर खराब इंटरनेट कनेक्टिविटी या कोई टेक्निकल दिक्कत सामने आती है तो स्टूडेंट आंसरशीट तय टाइम बीतने के बाद भी जमा कर सकते हैं। देरी के प्रूफ (स्क्रीनशॉट) के साथ उसे कॉलेज/डिपार्टमेंट के नोडल ऑफिसर को आंसरशीट भेजनी होगी। देरी से आंसरशीट जमा करने के लिए अधिकतम समय सीमा 30 मिनट होगी। हालांकि, ऐसे सभी मामलों की जांच रिव्यू कमिटी करेगी।

Related Articles

Back to top button