Hamar Chhattisgarhindia

मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना का शुभारंभ,डिलमिली में 33 किसानों ने की 100 एकड़ जमीन में कॉफी के खेती की शुरुआत

जगदलपुर 06 जून 2021 : पर्यावरण के संतुलन के लिए लोगों में वृक्षारोपण को प्रोत्साहित करने हेतु मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा प्रदेश में मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के शुभारंभ के साथ ही दरभा विकासखण्ड के डिलमिली ग्राम के कोयकीमारी में 33 किसानों ने मरहान भूमि में काफी के पौधे लगाने की शुरुआत की।

इस अवसर पर डिलमिली में संसदीय सचिव रेखचंद जैन, मछुआ कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष एमआर निषाद, कलेक्टर रजत बंसल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी इंद्रजीत सिंह चंद्रवाल सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। मुख्यमंत्री बघेल ने योजना के शुभारंभ के अवसर पर किसानों के साथ वर्चुअल बातचीत की।

कॉफी की खेती 

बातचीत के दौरान डिलमिली में कॉफी की खेती करने वाले किसानों की अगुआई कर रहे जलनु राम बघेल ने मुख्यमंत्री बघेल के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि धान की खेती को छोड़कर अन्य फसल लगाने वाले तथा फलदार वृक्षों को लगाने वाले किसानों का हौसला तीन वर्ष तक प्रति एकड़ दस हजार रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने से निश्चित तौर पर बढ़ा है। बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि उनकी पढ़ाई स्नातक तक हुई है।

इस दौरान उन्होंने दरभा के किसानों द्वारा काफी की खेती करने की बात सुनी और उन्होंने वहां जाकर स्वयं देखा। इसके पश्चात् वे उद्यान महाविद्यालय के वैज्ञानिकों से मिले और कॉफी के खेती की इच्छा जाहिर की। उद्यान महाविद्यालय द्वारा इसके लिए पहले भूमि का परीक्षण किया गया और इसके पश्चात् भूमि को कॉफी की खेती के अनुकूल पाए जाने पर कॉफी की खेती का प्रशिक्षण दिया गया।

जलनू ने अपने गांव के अन्य किसानों को भी कॉफी की खेती के लिए तैयार किया। जिला प्रशासन द्वारा भी कॉफी की खेती के लिए उत्सुक इन किसानों का भरपूर सहयोग किया जा रहा है। मुख्यमंत्री बघेल ने किसानों द्वारा लिए गए निर्णय की भरपूर सराहना करते हुए कहा कि क्षेत्र के अन्य किसानों को भी ऐसे कार्यों के लिए प्रोत्साहित किया जाए, जिससे उनके आय में वृद्धि हो।

संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने दी किसानों का बधाई

कॉफी की खेती की राह चुनने वाले किसानों को संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने बधाई देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा किसानों को आर्थिक तौर पर समृद्ध बनाने के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में पर्यावरण संतुलन के साथ किसानों की आय में वृद्धि का यह अनुठा प्रयास है। उन्होंने कहा कि दरभा के किसानों की तरह काफी की खेती के माध्यम से डिलमिली के किसान भी आगे बढ़ें और समृद्धि का नया इतिहास रचें। इस अवसर पर यहां उन्होंने काफी के पौधों की सुरक्षा के लिए लगाए जाने वाले आम का पौधा लगाया। इसके साथ ही यहां मछुआ कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष एमआर निषाद ने सिल्वर ऑक का पौधा लगाया।

Related Articles

Back to top button