bharatHamar bilaspurHamar Chhattisgarhindia

पुलिस अधीक्षक श्री सूरज सिंह परिहार IPS के द्वारा “अंग्रेजी भाषा मे अपनी पकड़ कैसे बनाएं

  • सर्वसामान्य और खासकर छात्रों के हित में जीपीएम पुलिस अधीक्षक की पुनः अभिनव पहल
  • अंग्रेजी भाषा की अनिवार्यता को देखते हुए उसपे भाषाई पकड़ को अच्छा, सरल एवं सहज बनाने गूगल मीट/फेसबुक लाइव के माध्यम से विशेषज्ञों के वेबिनार का आयोजन
  •  ‘पुलिस की पाठशाला’ के सदस्यों और स्टाफ सहित छात्रों और युवाओं ने बढ़ चढ़ कर की शिरकत

दिनाँक 5/6/2021 दिन शनिवार को सायं 7 बजे से 8.30 बजे तक पुलिस अधीक्षक श्री सूरज सिंह परिहार IPS के द्वारा “अंग्रेजी भाषा मे अपनी पकड़ कैसे बनाएं” विषय पर गूगल मीट एवं फेसबुक लाइव के माध्यम से वेबीनार का आयोजन किया गया।

इस सम्बंध में विषय विशेषज्ञ के रूप में पैनल में श्री हरीश कुमार IRS, श्री अनुराग त्रिपाठी IRS, श्री एश्वर्य प्रताप सिंह (उप्र न्यायिक सेवा), श्री आशुतोष द्विवेदी IAS, सुश्री अनन्या सिंह IAS, श्री सौरभ शर्मा अंतरराष्ट्रीय पत्रकार एवं मेजबान विशेषज्ञ के रूप में स्वयं श्री सूरज सिंह परिहार, IPS उपस्थित थे।

वेबीनार के शुरुआत में पैनल विशेषज्ञों से लाइव जुड़े लोगों से परिचय कराते हुए बताया कि इसके पूर्व भी विभिन्न विषयों पर कई मार्गदर्शन वेबिनार का आयोजन किया जा चुका है। उन्ही आयोजनों में कई बच्चो का प्रश्न आया था कि अंग्रेजी लिखित और भाषाई दोनों को कैसे अच्छा करें, व्याकरण और वोकैबुलारी कैसे अच्छी करें, अंग्रेजी आज हर क्षेत्र में अनिवार्यता बन चुकी है इससे मुंह मोड़ कर इसे अनदेखा नही किया जा सकता, कॉन्फिडेंस कैसे बढ़ाएं, अच्छे पब्लिक स्पीकर कैसे बनें, अंग्रेजी में इंटरव्यू कैसे फेस करें इत्यादि इत्यादि। इन्ही समस्याओं को देखते हुए इस वेबिनार का आयोजन किया गया है।

वेबिनार के दौरान अंग्रेजी की तैयारी कैसे करनी है के सम्बंध में श्री हरीश कुमार के द्वारा बताया गया कि जब हम कोई भाषा को सीखते हैं तो उसे समझने के लिए शब्दों के ओरिजिन पे उनके रूट पे काम करना होगा और बोलने के लिए स्टेप बाई स्टेप आगे बढ़ना होगा। पहले शब्द बोलना फिर शब्द जोड़ते फ्रेस बोलना फिर वाक्य और फिर पैरा। अंग्रेजी एक विदेशी भाषा है इसके बेसिक में जाना होता है। ग्रामर, वाक्यबुलरी आदि का डेवलप होना अति आवश्यक है। साथ मे एक डिस्कनरी रखनी होगी जिससे उच्चारण अर्थ आदि की पकड़ अच्छी हो जाएगी आदि विस्तार से बताये।

इस संबंध में श्री अनुराग त्रिपाठी ने अंग्रेजी की तैयारी के सम्बंध में बताया कि हम सभी अपने बाल्यकाल से लेकर पढ़ाई के दौरान अंग्रेजी का वाक्यों का उपयोग करते है और पढ़ते भी है इसलिए हम बेसिक ज्ञान तो रखते ही हैं । यहां पर निश्चित ही उन लोगो को ध्यान देने की जरूरत है कि जो प्रतियोगी परीक्षाओं में अंग्रेजी के प्रश्नो को कम समय मे अच्छे से बनाने के लिए प्रयासरत हैं, उसके लिए उपाय एक ही है परिश्रम एवं अभ्यास। इसी से लक्ष्य की प्राप्ति होती है।

श्री ऐश्वर्य प्रताप सिंह एवं श्री सौरभ शर्मा ने अंग्रेजी की तैयारी के सम्बंध में बताया कि अँग्रेजी की तैयारी के लिए सिम्पल उपाय के रूप में एक हिंदी का अखबार एवं एक अँग्रेजी का अखबार प्रतिदिन पढ़ें उसे वाक्यबुलरी सही होगी और शब्द का उपयोग कहा करना है उसकी जानकारी भी होगी। श्री सौरभ शर्मा ने एक अच्छा उदाहरण देकर बताया कि कुछ दिनों पहले पेपरों में आया कि गंगा नदी में शव तैरते दिखे। भाषा मे सही वाक्य यह नही है। शव कभी तैरता नही शव उतराता है। इसलिए वाक्यबुलरी का सही होना जरूरी है और उसके लिए अभ्यास जरूरी है। झिझक को लालसा में बदलना जरूरी है।

सुश्री अनन्या सिंह ने अंग्रेजी की तैयारी के लिए बताया कि बेसिक चीज़ें हम स्कूल में जान गए होते है। उससे आगे के लिए हमें फ्लो में आने के लिए पुस्तकें पढ़ना, अंग्रेजी समाचार चैनल देखना जरूरी है। सामान्यतः बहुत से लोग हॉलीवुड की मूवी देखते है, पत्रिका पढ़ लेते हैं पर उसका उच्चारण नही कर पाते इसके लिए उस झिझक, संकोच को दूर करना होगा। तभी हम अंग्रेजी विषय पर अपनी पकड़ बना सकते हैं।

वेबिनार के होस्ट श्री सूरज सिंह परिहार ने बताया कि किस तरह उचित अनुपात में पैसिव प्रोसेस 1.रीडिंग 2. लिसनिंग और एक्टिव प्रोसेस 1.राइटिंग 2. स्पीकिंग में से एक्टिव प्रोसेस पर फोकस बढ़ा कर अंग्रेजी बोलने की कला बेहतर कर सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि किस तरह Cognitive Behavioural Therapy का प्रयोग करके आप अंग्रेजी के अपने भय को दूर कर सकते हैं। Webinar के दौरान युवाओं के द्वारा कुछ प्रश्न भी किये गए जिनके संबंध में पैनल विशेषज्ञों द्वारा आपसी चर्चा कर उनके उपाय भी साझा किए गए। जो कोई छात्र या लाभार्थी किसी कारण से इसका लाभ नहीं उठा पाए या जुड़ नहीं पाए वो श्री सूरज सिंह परिहार के फेसबुक प्रोफाइल में जाकर इस सत्र की रिकार्डिंग देख सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
close button