Metro

यूपी के इन 4 जिलों को छोड़कर पूरा प्रदेश हुआ कोरोना कर्फ्यू से आजाद…

हेमेन्द्र त्रिपाठी, लखनऊउत्तर प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मामलों में आ रही कमी को देखते हुए कोरोना कर्फ्यू को खत्म करने के लिए प्रदेश के 55 जिलों से इसकी शुरुआत की गई थी, जिसके बाद धीरे-धीरे कम एक्टिव केस वाले कुल 71 जिलों को भी एहतियात बरतने के निर्देश देने के साथ कोरोना कर्फ्यू से मुक्त कर दिया गया। जिसके चलते अब प्रदेश के 4 जिलों को छोड़कर अन्य सभी जिलों को कोरोना कर्फ्यू से मुक्त कर दिया गया है।

लखनऊ, मेरठ समेत 4 जिलों में 600 से अधिक कोरोना केस
प्रदेश सरकार ने बीते दिनों आदेश जारी करते हुए बताया था कि यूपी के जिन जिलों में कोरोना संक्रमितों के एक्टिव मामले 600 से नीचे आ जाएंगे, वे जिले कोरोना कर्फ्यू से स्वतः ही मुक्त कर दिए जाएंगे। प्रदेश सरकार की ओर से T-3 की नीति लागू कर दिखाई जा रही सक्रियता के चलते प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना संक्रमितों के ट्रिपल डिजिट वाले केस आना बंद हो गए हैं। बावजूद इसके प्रदेश के 4 जिले (मेरठ, लखनऊ, सहारनपुर और गोरखपुर) में अभी भी कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या 600 से ऊपर बनी हुई है।

1165 नए संक्रमित आए सामने, 17928 तक पहुंचा एक्टिव केस का ग्राफ
रविवार को प्रदेश सरकार की ओर से जारी हुए कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में एक बार फिर बढ़ोतरी देखने को मिली। जारी आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटे में 2246 लोगों के अस्पताल से डिस्चार्ज होने के साथ कोरोना से 1165 नए लोग संक्रमित पाए गए। वहीं, एक्टिव केस का ग्राफ 17928 तक पहुंच गया। आपको बताते चलें कि बीते शनिवार को कोरोना से 1092 नए लोगों के संक्रमित होने की संख्या दर्ज की गई थी। वहीं, 24 घंटे पहले एक्टिव मामलों का ग्राफ 19438 तक पहुंचा था। इस लिहाज से रविवार को एक्टिव मामलों में कमी आने के साथ नए संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी देखी गयी है।

3.9 लाख लोगों के हुए कोरोना टेस्ट, 97.7 प्रतिशत तक पहुंचा रिकवरी रेट योगी सरकार की ओर से T-3 नीतियों के चलते प्रदेश में तेजी से कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं। बीते 23 घंटे में 3,09,674 कोरोना टेस्ट किए गए। जिसके चलते देश में सबसे ज्यादा कोरोना टेस्ट करने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य बना। प्रदेश में अब तक कुल 5,13,42,537 कोरोना टेस्ट किए जा चुके हैं। प्रदेश में घट रही संक्रमितों की संख्या के चलते उत्तर प्रदेश में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट घट कर 3.3 प्रतिशत तक पहुंच गया तो वहीं, रिकवरी रेट बढ़ कर 97.7 प्रतिशत दर्ज किया गया है।

Related Articles

Back to top button
close button