Metro

अचानक लखनऊ पहुंचे राधा मोहन सिंह, गवर्नर से अब मीटिंग… UP में क्या है 'सर्जरी' की तैयारी?

लखनऊ
दिल्ली में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, राष्ट्रीय महासचिवों और प्रभारियों की बैठक के बाद यूपी के प्रभारी राधा मोहन सिंह अचानक शनिवार देर शाम लखनऊ पहुंचे। उन्होंने पार्टी दफ्तर में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ मीटिंग की। वह रविवार सुबह 11 बजे राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मिलेंगे।

राधा मोहन सिंह उस समय यूपी के दौरे पर हैं जब अगले साल विधानसभा चुनाव से पहले राज्य मंत्रिमंडल के विस्तार की अटकलें लगाई जा रही हैं। वह राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात करेंगे।

चर्चाएं हुईं फिर तेज
ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि 2022 के विधानसभा चुनावों से पहले, योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार जल्द ही अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल करेगी। इसी के चलते लगातार दिल्ली और लखनऊ में बैठकें चल रही हैं। संघ और संगठन के पदाधिकारियों का न सिर्फ यूपी का दौरा जारी है बल्कि लगातार बैठकें भी चल रही हैं।

पंचायत चुनाव का परफॉर्मेंस और कोरोना ने बढ़ाई टेंशन
कहा जा रहा है कि अगले साल होने वाले चुनावों के साथ, भाजपा का यूपी पंचायत चुनावों में परफॉर्मेंस खराब रहा। इधर कोविड-19 स्थिति से निपटने के लिए सरकार के प्रयासों पर विपक्ष और कई लोगों ने सवाल उठाए। इन सबको देखते हुए संघ और संगठन अपने नेताओं से प्रतिक्रिया मांगकर राज्य में पार्टी को मजबूत करने का फैसला किया है।

फीडबैक के आधार पर रणनीति
पार्टी ने योगी आदित्यनाथ सरकार में अपने राज्य के नेताओं और मंत्रियों से प्राप्त फीडबैक के आधार पर एक रणनीति तैयार करने, राज्य सरकार की छवि को मजबूत करने और राज्य में मुद्दों को हल करने का भी निर्णय लिया है।

बीएल संतोष ने भी किया था दो दिवसीय दौरा
इन प्रयासों के तहत पार्टी और सरकार के बीच समन्वय में सुधार लाने के उद्देश्य से, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष इस सप्ताह की शुरुआत में लखनऊ पहुंचे और कुछ मंत्रियों और नेताओं के साथ आमने-सामने बैठकर बात की। संतोष के साथ राधा मोहन सिंह भी थे।

नेताओं ने उठाए ये मुद्दे
सूत्रों की मानें तो बैठक के दौरान कई नेताओं ने कोविड -19 से निपटने, लोगों के बीच मोहभंग और सरकार और पार्टी नेताओं के बीच समन्वय की कमी जैसे मुद्दों को पदाधिकारियों के सामने उठाया था।

2017 में यह रहा था विधानसभा का रिजल्ट
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में होने वाले हैं। भाजपा ने 2017 के विधानसभा चुनावों में राज्य में सत्ता में वापसी की थी। 403 सदस्यीय उत्तर प्रदेश विधानसभा में, प्रमुख दलों में, भाजपा के 309 विधायक हैं, सपा के 49, बसपा 18 और कांग्रेस 7 सदस्य विधानसभा पहुंचे थे।

Related Articles

Back to top button
close button