Hamar Chhattisgarhindia

यूपी पुलिस का बड़ा फरमान, कोरोना काल में ज़ब्त रेमडेसीविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ अन्य दवाइयों को इस्तेमाल के निर्देश

यूपी पुलिस का बड़ा फरमान, कोरोना काल में ज़ब्त रेमडेसीविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ अन्य दवाइयों को इस्तेमाल के निर्देश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने सभी जिला कप्तानों को पत्र लिखकर निर्देश दिए हैं कि कोरोना काल में कालाबाजारी के दौरान पुलिस कार्रवाई में बरामद किए गए रेमडेसीविर इंजेक्शन, पल्स ऑक्सीमीटर व अन्य जीवन रक्षक दवाइयों और ऑक्सीजन सिलेंडर को कोर्ट से आदेश लेकर, जिला प्रशासन के समन्वय के साथ जरूरतमंदों को या सरकारी अस्पतालों और संस्थानों को दिया जाए, ताकि इन जीवन रक्षक दवाइयों, उपकरणों का सही समय पर उपयोग किया जा सके।

प्रशांत कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने अब तक 839 रेमडेसिविर इंजेक्शन ,240 PIP T 4.5 GM इंजेक्शन, 3 वॉयल्स ऑक्टेमरा इंजेक्शन, 1125 ऑक्सीजन सिलेंडर, 531 ऑक्सीमीटर बरामद किए गए हैं यह सभी वस्तुएं और दवाइयां कोरोना के इलाज में इस्तेमाल की जाती हैं।ताकि इन जीवन रक्षक दवाइयों, उपकरणों का सही समय पर उपयोग किया जा सके।

एडीजी प्रशांत कुमार के जानकारी के मुताबिक कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने अब तक 839 रेमडेविर इंजेक्शन, 240 PIP T 4.5 GM इंजेक्शन, 3 वॉयल्स ऑक्टेमरा इंजेक्शन, 1125 ऑक्सीजन सिलेंडर, 531 ऑक्सीमीटर बरामद किए गए हैं. ये सभी कोरोना के इलाज में इस्तेमाल की जाती हैं लिहाजा कई शहरों में आपराधिक तत्वों ने इन वस्तुओं की कालाबाजारी करने की तैयारी की थी, जिस पर अलग-अलग जिलों में प्रभावी कार्यवाही की गई है।

उन्होंने बताया कि अब तक की गई कार्यवाही में पूरे यूपी में 110 आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया है।अकेले राजधानी लखनऊ में ही मंगलवार को 10 आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं, जिनसे 217 ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद हुए हैं। कल राजधानी लखनऊ के जानकीपुरम 127, गुडंबा में 87, नाका में 5, गोमती नगर विस्तार में 18, ठाकुरगंज में 4, अलीगंज में एक और कृष्णा नगर में 54 सिलेंडर बरामद किए गए हैं। आरोपियों के 3 वाहन भी जब किए गए हैं।

एडीजी एलओ प्रशांत कुमार के मुताबिक सभी जिला कप्तानों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना में इस्तेमाल होने वाली दवाइयों और उपकरणों की कालाबाजारी करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए और इस कार्रवाई में बरामद माल को कोर्ट से आदेश लेकर इस्तेमाल में लाया जाए। रिपोर्ट- लालचंद

Related Articles

Back to top button