Metro

यूपी बोर्ड 12 वीं परीक्षा रद्द, जानिए कैसे तैयार होगा रिजल्ट, अगली परीक्षा में शामिल होने का भी ऑप्शन

लखनऊ
दसवीं के बाद अब यूपी बोर्ड के 12वीं क्लास के विद्यार्थी भी बिना परीक्षा दिए अगली कक्षाओं में पहुंच जाएंगे। हाईस्कूल की बोर्ड परीक्षा और कक्षा-11 की वार्षिक परीक्षा के नंबर के औसत के आधार पर स्टूडेंट्स का रिजल्ट तैयार किया जाएगा। इसके अलावा स्टूडेंट्स के पास अगले बोर्ड परीक्षा में शामिल होने का भी ऑप्शन होगा। बता दें कि यूपी बोर्ड की 12 वीं परीक्षा के लिए 26,10,316 स्टूडेंट्स को शामिल होना था। आगे जानिए कैसे तैयार होगा रिजल्ट-

ऐसे तैयार होगा रिजल्ट

इंटरमीडिएट: हाईस्कूल की बोर्ड परीक्षा और कक्षा-11 की वार्षिक परीक्षा के प्राप्तांक के औसत के आधार पर किसी परीक्षार्थी का रिजल्ट तैयार होगा। अगर 11वीं की वार्षिक परीक्षा के प्राप्तांक उपलब्ध नहीं होंगे तब कक्षा-12 की प्री-बोर्ड परीक्षा के प्राप्तांकों का प्रयोग किया जाएगा। जिन संस्थागत व व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के कक्षा 10, 11 अथवा 12 के प्री-बोर्ड के प्राप्तांक नहीं होंगे, उन्हें सामान्य रूप से प्रमोट किया जाएगा। उन्हें केवल प्रमोशन का प्रमाणपत्र दिया जाएगा।

हाईस्कूल: क्लास 9 की वार्षिक परीक्षा व क्लास 10 की प्री-बोर्ड परीक्षा के प्राप्तांक औसत के लिए प्रयोग में लाए जाएंगे। जिनके ये अंक नहीं उपलब्ध होंगे, उन्हें सामान्य रूप से कक्षा 11 में प्रमोट किया जाएगा।

परीक्षा देने का भी विकल्प
विद्यार्थियों के पास परीक्षा देने का भी विकल्प है। इंटरमीडिएट की वर्ष 2021 की परीक्षा के सभी रजिस्टर्ड परीक्षार्थियों को आगामी इंटरमीडिएट परीक्षा में अपनी इच्छा के मुताबिक एक विषय या अपने सभी विषयों की परीक्षा में शामिल होकर अपने अंकों में सुधार करने का अवसर प्राप्त होगा। यह अंक वर्ष 2021 की इंटरमीडिएट की परीक्षा के अंक ही माने जाएंगे। इसी तरह कक्षा दस में प्रमोट हुए परीक्षार्थियों को भी एक विषय या सभी विषयों की परीक्षा देने का विकल्प मिलेगा।

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा व माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक करके 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद करने के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है। सीबीएसई, सीआईएससीई और कई अन्य राज्य पहले ही 12वीं की बोर्ड परीक्षा रद कर चुके हैं।

डॉ. शर्मा ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा विभाग ने परीक्षा करवाने की तैयारी पूरी कर ली थी, लेकिन कोरोना के मद्देनजर विद्यार्थियों व शिक्षकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पहले हाईस्कूल और अब इंटरमीडिएट की परीक्षा भी निरस्त करके विद्यार्थियों को प्रमोट करने का अहम निर्णय लिया गया है। इससे सत्र नियमित रखने में भी मदद मिलेगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘कोविड-19 महामारी की वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत बच्चों के स्वास्थ्य की सुरक्षा हमारी शीर्ष प्राथमिकता है। प्रधानमंत्री की प्रेरणा से यूपी बोर्ड ने निर्णय लिया है कि वर्तमान शैक्षिक सत्र में माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा।’

Related Articles

Back to top button
close button