Hamar bilaspur

उपचुनाव: मरवाही में 77 फीसदी मतदाताओं ने किया अपने मताधिकार का प्रयोग, 10 नवम्बर को आएगा फैसला


बिलासपुर/जीपीएम. मरवाही विधानसभा उपचुनाव में मंगलवार को प्रारंभिक आंकड़े में 77 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। अनेक स्थानों पर मतदान करने वालों की लम्बी कतारें लगी रहीं। किसी भी क्षेत्र से कोई अप्रिय वारदात होने की खबर नहीं है। करीब एक दर्जन केंद्रों पर मतदान का समय खत्म होने के बाद भी लंबी कतार लगी रहीं। ठंड की वजह से सुबह मतदान की धीमी शुरुआत हुई।

मतदान के दौरान अनेक केंद्रों में ईवीएम में खराबी आई, इन्हें तुरंत बदला गया। इससे मतदान कुछ समय के लिए बाधित रहा। इस सीट पर महिला मतदाताओं की भागीदारी अधिक हैं। कोरोना काल में छत्तीसगढ़ राज्य में हो रहे पहले उपचुनाव में मतदाताओं को सेनिटाइजर, ग्लब्ज और मास्क दिए गए। हर मतदाता की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। साथ ही अधिकारियों, कर्मचारियों को पीपीई किट, मास्क, ग्लब्ज, सेनिटाइजर आदि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए दिए गए।

पुरुषो के बजाय महिला मतदाताओं में अधिक उत्साह, दोपहर 1 बजे तक 41.46 प्रतिशत वोटिंग

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन के बाद मरवाही विधानसभा की यह सीट खाली हुई थी । इस बार मरवाही उप चुनाव में 8 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं लेकिन चुनाव में भाजपा और कांग्रेस को ही मुख्य प्रतिद्वंदी माना जा रहा है । BJP से डॉ गंभीर सिंह और कांग्रेस से डॉ केके ध्रुव चुनाव लड़ रहे हैं । वहीं पहली बार जोगी परिवार मरवाही चुनाव से बाहर है ।

ये भी पढ़ें: चुनाव में तीन डाक्टर और एक बायो टेक्नोलॉजी में पीजी हैं उम्मीदवार, किसी एक के सर पर सजेगा जीता का ताज

Related Articles

Back to top button