Metro

बंद कमरे में BJP के महामंत्री के सवालों पर मं‌त्रियों ने निकाला ‘गुबार’… योगी के लिए क्या इशारा?

लखनऊ
अपने यूपी दौरे के दूसरे दिन बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष ने ‘फीडबैक’ रिपोर्ट तैयार कर ली है। वह अपनी रिपोर्ट पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को देंगे। इसके आधार पर यूपी में सरकार और संगठन में फेरबदल किया जा सकता है। यूपी में 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले बीएल संतोष ने मंगलवार को बंद कमरे में सरकार के मंत्रियों को अलग-अलग बुलाकर जमीनी हकीकत जानी।

सूत्रों के अनुसार, मंत्रियों ने अपनी तो खूब तारीफ की, लेकिन कामकाज में लापरवाही का ठीकरा अफसरों पर फोड़ दिया। मंत्रियों से कार्यकर्ताओं की नाराजगी को लेकर सवाल हुए तो एक ने साफ कहा कि सरकार के अफसर जब उनकी ही नहीं सुनते तो कार्यकर्ताओं के काम कहां करेंगे?

फाइलें लटकाते हैं अफसर
राष्ट्रीय संगठन महामंत्री के साथ बंद कमरे में हुई बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल भी नहीं थे। उन्होंने एक-एक कर सबको अपने कमरे में बुलाया। मंत्रियों से पूछा गया कि सीएम दफ्तर से उन्हें कितना सहयोग मिलता है? अफसर कितना सुनते हैं। इस पर एक मंत्री ने कहा कि वह अपने विभाग में कोई फैसला लेते हैं तो अफसर या तो उसे बदल देते हैं या उस पर अमल ही नहीं करते।

उन्होंने अपने एक पूर्व प्रमुख सचिव के बारे में जमकर गुबार निकाला कि कैसे उन्होंने मंत्री के कई फैसलों को बदल दिया। एक मंत्री का कहना था कि वह अपने विभाग में अफसरों की तैनाती भी अपने मन से नहीं कर पाते हैं। अफसरों पर भी उन्होंने फाइलें लटकाने के आरोप लगाए। एक मंत्री ने तो यहां तक कहा कि विभागीय तबादलों में भी उनकी मंजूरी नहीं ली जाती।

कार्यकर्ता नाराज, कैसे जीतेंगे चुनाव
मंत्रियों से 2022 के चुनाव की तैयारियों और उसमें कमी को लेकर भी सवाल हुए तो एक मंत्री ने कहा कि कोरोना काल में जनता और कार्यकर्ताओं में नाराजगी जरूर बढ़ी है, लेकिन सब लोग जुटें तो इसे ठीक कर लिया जाएगा। संगठन महामंत्री ने पूछा कि क्या हम चुनाव में जाएं तो जीत जाएंगे?

एक मंत्री ने कहा कि इस वक्त नाराजगी ज्यादा है, चुनाव को लेकर दिक्कतें हैं पर सभी जुटेंगे तो जीत हासिल होगी। संगठन महामंत्री ने सबसे यही कहा कि संगठन के साथ समन्वय करें और अब समय कम है। सभी अपनी व्यक्तिगत नाराजगी किनारे कर चुनावी तैयारी में जुट जाएं।

संघ कार्यालय से भी ली जानकारी
बीजेपी दफ्तर में मंत्रियों से बात करने के बाद संतोष सीधे राजेंद्र नगर स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) कार्यालय भारती भवन पहुंचे। यहां उन्होंने दोनों क्षेत्र प्रचारकों और प्रांत प्रचारक से भी बात की। उनसे सरकार के कामकाज के साथ जनता की नाराजगी के बारे में जानकारी हासिल की।

इनसे हुई बात
संगठन महामंत्री ने सबसे पहले दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, डा.दिनेश शर्मा से बात की। इसके बाद मंत्रियों सिद्धार्थनाथ सिंह, श्रीकांत शर्मा, स्वामी प्रसाद मौर्य और रमापति शास्त्री आदि से भी अलग-अलग बात की।

सतीश द्विवेदी भी पहुंचे
बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री सतीश द्विवेदी भी उनसे मिलने पहुंचे, पर वह मीडिया से बचते हुए पीछे से ही निकल गए। माना जा रहा है कि हाल ही में अपने भाई की नियुक्ति को लेकर खुद पर लगे आरोपों पर उन्होंने सफाई दी है।

Related Articles

Back to top button