Metro

गुलशन कुमार मर्डर: रउफ मर्चेंट की उम्रकैद सजा बरकरार, अब्‍दुल रशीद भी दोषी करार

मुंबई
टी सीरीज के मालिक गुलशन कुमार मर्डर केस में बॉम्बे हाई कोर्ट ने दोषी रउफ मर्चेंट की सजा बरकरार रखी। इसके अलावा हाई कोर्ट ने दूसरे आरोपी अब्दुल राशिद को दोषी ठहराया है जिसे पहले सेशन कोर्ट ने बरी कर दिया था। महाराष्ट्र सरकार ने अब्दुल राशिद को बरी किए जाने के फैसले को चुनौती देते हुए हाई कोर्ट में अपील की थी। अब्दुल राशिद को दोषी ठहराए जाने के बाद आजीवन कारावास की सजा दी गई है। वहीं महाराष्ट्र सरकार की अपील खारिज करते हुए रमेश तौरानी को बरी किए जाने का फैसला बरकरार रखा।

12 अगस्‍त 1997 को गुलशन कुमार की हत्‍या कर दी गई थी। जीतेश्वर महादेव मंदिर के बाहर उनके शरीर को 16 गोलियों से छलनी कर दिया गया। दाऊद इब्राहिम के इशारे पर अबू सलेम ने गुलशन कुमार की हत्‍या की प्‍लानिंग की थी। दो शार्प शूटरों को मंदिर के बाहर तैनात किया था। अबू सलेम के इस प्‍लान की जानकारी पुलिस को भी थी।

पांच महीने पहले अप्रैल महीने में ही एक मुखबिर ने महाराष्‍ट्र के पूर्व डीजीपी राकेश मारिया को इस बारे में खबर दी थी। फोन पर कहा था, ‘सर, गुलशन कुमार का विकेट गिरने वाला है।’ राकेश मारिया ने एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया था।

Related Articles

Back to top button