यहाँ और भी जानकारी है। 
Metro

डिंपल से इश्क, शादी… अखिलेश ने किसे बताया था सबसे पहले, जानें अनसुने किस्से

लखनऊ
यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का आज जन्मदिन है। वह 48 साल के हो गए हैं। अखिलेश यादव के जन्मदिन पर सुबह से पार्टी कार्यकर्ता और तमाम राजनेता उन्हें बधाई दे रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी उन्हें फोन कर बधाई दी। अखिलेश यादव के इंजीनियरिंग से राजनीति में आने और फिर देश के सबसे बड़े प्रदेश का सीएम बनने तक के सफर के बारे में कई लोग जानते होंगे लेकिन आज हम आपको एक आम इंसान के रूप में अखिलेश के जीवन से जुड़े किस्से बता रहे हैं।

अखिलेश का जन्म सैफई में हुआ था। गांव के प्रधान ने उनका नाम ‘टीपू’ रखा था। राजस्थान के धौलपुर के मिलिट्री स्कूल से उन्होंने शुरुआती पढ़ाई की। फिर मैसूर के जेएसएस साइंस ऐंड टेक्नॉलजी यूनिवर्सिटी से सिविल इन्वायरमेंट इंजीनियरिंग से ग्रैजुएशन किया लेकिन क्या आपको पता है कि कॉलेज के दिनों में अखिलेश यादव की कई बार बैक लग चुकी है। उन्होंने खुद 2017 में एक न्यूज वेबसाइट के साथ इंटरव्यू में इसका जिक्र किया था।

‘सिर्फ दो ही सब्जेक्ट में हुए थे पास’अखिलेश ने इंटरव्यू के दौरान बताया, ‘तब ये नहीं पता था कि राजनीति में आना है या नहीं। तब यही कोशिश रहती थी कि किसी तरह पास हो जाएं बस। मेरी इतनी बार बैक लग चुकी है कि शायद कि किसी बच्चे की इतनी बैक आई हो। मुझे याद है कि जब बतौर मुख्यमंत्री कॉलेज गया तो मैंने वहां बताया कि जब मैं फर्स्ट सेमेस्टर में था, तो हमारे सभी साथी देखने गए कि रिजल्ट कैसा आया है और जब नोटिस बोर्ड में अपना रिजल्ट देखते हैं तो वहां पर केवल दो सब्जेक्ट दिखाई दिए। हम खुश हुए कि सिर्फ दो ही सब्जेक्ट में फेल हुए। लेकिन बाद में जब पता चला कि गलत रिजल्ट देखकर आए हैं ये दो सब्जेक्ट वे हैं जिसमें हम पास हुए हैं। बाकी सबमें फेल हैं लेकिन भगवान का शुक्र है कि जब फर्स्ट ईयर खत्म हुआ तो सभी सब्जेक्ट को क्लियर किया।’

‘जिप्सी होगी तो माहौल अलग होगा’कॉलेज के ही दिनों में हर युवा की तरह अखिलेश का भी सपना था कि उनके पास कार हो। अखिलेश ने उस वक्त जिप्सी खरीदी थी। अखिलेश ने बताया, उस समय जिप्सी सबसे बड़ी जीप होती थी। मैंने सोचा था कि अगर कॉलेज में जिप्सी होगी तो माहौल अलग होगा। फिर जब आगे अखिलेश ने पूछा कि ‘जिप्सी होने का मतलब क्या है?’ तो दर्शकों में सब भौकाल चिल्लाने लगे। इस पर अखिलेश बोले, ‘ये लखनऊ वाले भौकाल से आगे नहीं जा रहे हैं।’

खेल के मैदान में पहली बार हुई थी डिंपल से मुलाकात
पत्नी डिंपल के साथ पहली मुलाकात पर अखिलेश ने बताया कि तो डिंपल से पहली बार खेल के मैदान में मुलाकात हुई थी। अखिलेश वहां खेलने जाया करते थे। इंटरव्यू के दौरान जब अखिलेश से पूछा गया कि How to approach a girl तो अखिलेश बोले, ‘ये जमाना कैसा है हमें नहीं पता लेकिन इनके (युवाओं के) मोबाइल छीन लो तो सब पता लग जाएगा। हमारे समय में मोबाइल नहीं था, वॉट्सऐप नहीं था, फेसबुक अकाउंट नहीं था तो हम सीधे-सीधे बात करते थे।’

‘दादी बोलीं- जो हो रहा है होने दो’
डिंपल से शादी की बात अखिलेश ने सबसे पहले अपनी दादी को बताई थी। अखिलेश ने उस वाकये पर बताया, ‘घर पर बात बताने के लिए मैंने दादी का फायदा उठाया। मैंने उन्हें सब बताया। वह बुजुर्ग थीं तो उन्होंने कहा कि बेटा अच्छा है, जो हो रहा है होने दो।’

सिडनी में अमिताभ बच्चन के साथ दिलचस्प किस्सा
इंटरव्यू के दौरान अखिलेश ने सिडनी से जुड़ा एक रोचक किस्सा भी बताया। अखिलेश ने कहा, सिडनी में एक फैमिली के साथ मैं पेइंग गेस्ट के रूप में रहता था। पति ऑस्ट्रेलियन थे पत्नी फिजियन। स्वाभाविक है कि वह जानते थे कि अमिताभ बच्चन हमारी फिल्म इंडस्ट्री की कितनी बड़ी शख्सियत हैं। जब अमिताभ बच्चन सिडनी आए थे तो मैं उनसे मिलने गया था। वहां के एक अखबार ने मेरी एक तस्वीर छाप दी जिसमें अमर अंकल (अमर सिंह), अमिताभ अंकल (अमिताभ बच्चन) और मैं था। उस दिन से सब जान गए कि मैं कितने बड़े लोगों को जानता हूं।’

Related Articles

Back to top button