bharatHamar bilaspurHamar Chhattisgarhindia

छत्तीसगढ़ बना देश का पहला राज्य जहां अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए दफ्तरों का नहीं लगाना पड़ेगा चक्कर, घर पहुंच मिलेगी सुविधा

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया-
घर बैठे मिलेंगी परिवहन विभाग की 22 सुविधाए।

नहीं लगाने होंगे अब R.T.O दफ्तर  के चक्कर, घर बैठे मिलेंगे परिवहन परिवहन विभाग की सुविधाएं

 

रायपुर- छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रेदशवासियों आज 1 जून को दी नई सौगात, उन्होंने आज अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में परिवहन विभाग कि तुंहर सरकार तुंहर द्वार का वर्चुअल शुभारंभ किया। इस नई सुविधा के माध्यम से परिवहन विभाग द्वारा प्रदेशवाशियों को 22 परिवहन सुविधाएं उनके घर के द्वार तक पहुंचा कर दी जाएगी इन सेवाओं में स्मार्ट कार्ड आधारित ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र से संबंधित परिवहन सेवाएं शामिल है, स्पीड पोस्ट के माध्यम से आवेदकों एवं वाहन स्वामियों के घर के पते पर सेवाओं को पहुंचाया जाएगा। निश्चित तौर पर यह योजना छत्तीसगढ़ वासियों के लिए एक अच्छी पहल है।

 

छत्तीसगढ़ सरकार की ‘तुंहर सरकार तुंहर द्वार’ की परिकल्पना के अंर्तगत परिवहन विभाग नवीन व्यवस्था लागू करने जा रही है. जिसमें ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट सहित 22 अन्य सेवाएं आवदेनकर्ताओं के आधार से दस्तावेज लिंक किए जाएंगे. अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए दफ्तरों का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा. अब ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन संबंधित स्मार्ट कार्ड आपके घर पहुंचेंगे.


ड्राइविंग लाइसेंस के लिए दफ्तरों से छुटकारा
परिवहन विभाग के मुताबिक अधिकारियों के द्वारा प्रमाणित करने के बाद स्पीड पोस्ट के माध्यम से 7 दिन के भीतर
आवेदनकर्ताओं के पंजीकृत पते पर भेजे जाएंगे. इससे लोगों को परेशानियों से निजात मिलेगी. साथ ही परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया कार्यक्रम का शुभारंभछत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य होगा, जो ऐसी व्यवस्था लागू करने वाला है. इस नई व्यवस्था का शुभारंभ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 1 जून को को दोपहर 12 बजे किया. मौजूदा व्यवस्था में आमजनों को परिवहन कार्यालय आना पड़ता है, अब नई व्यवस्था लागू होने से आवेदनकर्ता को अनावश्यक रूप से परिवहन कार्यालय के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. दस्तावेज सीधे उनके पंजीकृत पते पर भेजने की व्यवस्था की गई है.

संबंधित प्रमाण-पत्र घर मंगाने के लिए आवेदनकर्ता को www.parivahan.gov.in पर जाकर आवेदन करना होगा. नवीन व्यवस्था सम्बन्धित अधिक जानकारी के लिए हेल्प लाइन नंबर 7580808030 पर कॉल कर भी सहायता प्राप्त की जा सकेगी. इस हेल्पलाइन के माध्यम से आवेदक परिवहन कार्यालय को अनुमोदक उपरांत स्मार्ट कार्ड आधारित हैवी लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र प्रेषण के संबंध में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे ।इसी तरह ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन मेडिकल प्रमाण पत्र जारी किए जाएंगे । आज शुभारंभ कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के अनेक जिलों के नागरिक और परिवहन विभाग के अधिकारी भी कार्यक्रम से जुड़े। वही नागरिकों ने छत्तीसगढ़ सरकार की इस नवीन योजना लागू करने हेतु सरकार का धन्यवाद किया । जिसे हम लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस आरटी संबंधित कार्यों में आसानी से सुविधाएं घर बैठे मिल सकेंगी।

Related Articles

Back to top button
close button