स्कूल कल से खुल रहे : इन राज्यों में सख्त नियम के साथ खुलने जा रही स्कूलें…. जानिये किस राज्य में स्कूल खोलने को लेकर क्या है फैसला… छत्तीसगढ़ में स्कूल पर ये लिया गया है निर्णय

स्कूल कल से खुल रहे : इन राज्यों में सख्त नियम के साथ खुलने जा रही स्कूलें…. जानिये किस राज्य में स्कूल खोलने को लेकर क्या है फैसला… छत्तीसगढ़ में स्कूल पर ये लिया गया है निर्णय


रायपुर 14 अक्टूबर 2020। कल से देश के कई हिस्सों में कोरोना के बाद पहली दफा स्कूल-कालेज खुलने जा रहा है। छत्तीसगढ़ में तो फिलहाल स्कूल बंद रहेंगे, लेकिन कई राज्यों में स्कूल खोलने की अनुमति मिल गयी है। केंद्र सरकार ने हायर सेकेंडरी के बाद सेकेंडरी- प्राइमरी स्‍कूल खोलने को कहा है. कुछ राज्‍यों ने छूट मिलते ही स्‍कूल खोलने के लिए राज्य की गाइडलाइन बना लीं. लेकिन कई राज्य 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने को तैयार नहीं हैं. वहीं अभ‍िभावक भी अभी बच्चों को स्कूल भेजने को तैयार नहीं हैं। छत्तीसगढ़ में कैबिनेट में की बैठक में पिछले दिनों तय किया गया था कि प्रदेश में स्कूल नहीं खोले जायेंगे।

राज्यों की बात करें तो यूपी जहां 19 अक्टूबर से 9वीं से 12वीं तक के स्कूल खोलने की तैयारी कर चुका है. वहीं बिहार में 15 अक्टूबर से ही स्कूल खुल रहे हैं. लेकिन छत्तीसगढ़, पश्च‍िम बंगाल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, दिल्ली. मध्यप्रदेश और  झारखंड आदि सरकारें अभी राजी नहीं हैं. झारखंड सरकार ने अभिभावकों और शिक्षा जगत के लोगों से राय लेने के बाद स्कूलों को 31 अक्टूबर, 2020 तक नहीं खोलने का फैसला किया.

आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री वाईएस जगन रेड्डी ने कहा है कि राज्‍य के स्‍कूल 2 नवंबर से खोल दिये जाएंगे. मेघालय में स्‍कूल खोलने को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं. कक्षा 6 से 8 तक के बच्‍चों को केवल कंसल्‍टेशन के लिए स्‍कूल आने की अनुमति है. कक्षा 9-10 के छात्र भी कंसल्‍टेशन के लिए स्कूल आएंगे. छत्‍तीसगढ़ सरकार फिलहाल स्‍कूल बंद रखने का फैसला लिया है. हरियाणा सरकार कक्षा 6 से 9 तक के बच्‍चों के लिए स्‍कूल खोल सकती है.

फर्नीचर, स्टेशनरी, कैंटीन, लैब के साथ ही पूरा परिसर और क्लास रूम का रोज सैनिटाइजेशन होगा. एक क्लास में एक दिन 50 फीसदी ही बच्चे ही बैठेंगे. दूसरे दिन बाकी के बच्चों की पढ़ाई होगी. दो स्टूडेंट्स के बीच 6 फीट की दूरी अनिवार्य होगी. इसके अलावा सबसे सख्त नियम ये है कि कोई भी स्टूडेंट अपने अभ‍िभावक की ब‍िना ल‍िख‍ित अनुमत‍ि के स्कूल नहीं आ सकेगा.सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाएगा. प्रयास ये रहेगा कि अभिभावक खुद बच्चे को लाएं और लेकर जाएं. बच्चे को यूनिफार्म में फुल आस्तीन की शर्ट, फुल पैंट और जूते-मोजे पहनना जरूरी होगा. गाइडलाइंस का पालन बहुत अनिवार्य होगा. क्लासरूम में मास्क उतारने की अनुमति नहीं होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES