Hamar Chhattisgarh

संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज ने विद्या मितान अतिथि शिक्षकों को घोषणा पत्र अनुसार नियमित करने के लिए मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

ब्यूरो चीफ :- विपुल मिश्रा

संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज ने विद्या मितान अतिथि शिक्षकों को घोषणा पत्र अनुसार नियमित करने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है यह ऐसे शिक्षक हैं जिनकी नियुक्ति 2016 में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के समय में हुई थी विद्या मितान (अतिथि शिक्षक) की जब से नियुक्ति हुई है

तब से प्रदेश को बेहतर रिजल्ट प्राप्त हो रहे हैं सुकमा जिला जो नक्सल प्रभावित जोन में आता है वहां का रिजल्ट विद्या मितान की नियुक्ति के बाद प्रदेश में पहले स्थान पर प्राप्त हुआ है इसी तारतम्य में प्रदेश के हर जिलों में जहां जहां इनकी नियुक्ति हुई है

विद्या मितान

गणित विज्ञान अंग्रेजी व अन्य पदों पर सब जगह हर जिले से बेहतर रिजल्ट है मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने घोषणा पत्र में इन्हें नियमित शिक्षक बनाने के लिए घोषणा पत्र में शामिल किया तथा घोषणा पत्र में किए गए वादा अनुसार सरकार लगभग 2 वर्ष पूर्ण कर ली है अभी विद्या मितान अतिथि शिक्षकों का नियमितीकरण नहीं हो पाया और एक गंभीर समस्या इन के बीच में और अभी बनी हुई है जोकि कोरोना संक्रमण के बीच इनकी सेवा अभी शासन द्वारा नहीं ली जा रही है

जिससे इनकी आर्थिक स्थिति काफी खराब भी है अतिथि शिक्षकों का प्रतिनिधिमंडल से सुदर्शन यादव ने चिंतामणि महाराज को आवेदन के माध्यम से समस्त विद्या मितान अतिथि शिक्षकों की समस्या अवगत कराया जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए संसदीय सचिव माननी चिंतामणि महाराज जी ने मुख्यमंत्री को पत्र जारी करते हुए कहा कि इनकी तुरंत सेवा बहाली करते हुए नियमित करने के लिए पत्र लिखा संसदीय सचिव चिंतामणि महाराज द्वारा मुख्यमंत्री को पत्र लिखे जाने पर अतिथि शिक्षक विद्या मितान प्रतिनिधि मंडल मंडल से सुदर्शन यादव ने समस्त विद्या मितान अतिथि शिक्षकों की तरफ से माननीय चिंतामणि महाराज जी को आभार प्रकट किया है

Live Share Market

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES