छत्तीसगढ़ की खबरे

लॉज के अंदर एक ही परिवार के चार लोगों की लाशें मिली है।

कांकेर: जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। लॉज के अंदर एक ही परिवार के चार लोगों की लाशें मिली है। पति पत्नी की लाश फंदे से लटकी हुई थी तो वहीं दो मासूम बच्चों का शव पलंग पर पड़ा हुआ था। घटना कोतवाली थाना क्षेत्र की है। कल रात पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। पुलिस जांच में जुटी हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार मृतक राजेंद्र देवांगन अपनी पत्नी सविता देवांगन और दो मासूम बच्चे टुकटुक और गुनगुन के साथ बस स्टैंड पर स्थित बस्तर लॉज में बुधवार से रुके हुए थे। परिवार के आने के बाद दरवाजा एक बार भी नहीं खुला था। जिससे संचालक ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस जब मौके पर पहुंची और दरवाजा तोड़कर अंदर घुसी तो अंदर की स्थिति काफी दुखद थी।

बच्चों को जहर देकर मारने की आशंका

पुलिस जब मौके पर पहुंची तो पति पत्नी का शव फंदे पर लटका हुआ था, तो वहीं दो मासूम बच्चों की लाश पलंग पर पड़ी हुई थी। जिससे यह अंदेशा जताया जा रहा है कि दोनों मासूम बच्चों को जहर देने के बाद वे दोनों फंदे पर लटक गए हो।

पति पत्नी का हाथ पीछे बंधा हुआ मिला

मामला संदिग्ध लग रहा है , क्योंकि फंदे पर लटका हुआ पति-पत्नी के हाथ पीछे से बंधा हुआ है। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद मामला कुछ और साफ हो सकता है। लेकिन परिवार ने यह आत्मघाती कदम क्यों उठाया यह अभी भी जांच का विषय बना हुआ है।

पता चला है कि मृतक रायपुर के रायपुरा क्षेत्र में किराना का दुकान संचालित करता था। जो बुधवार को जगदलपुर जाने के लिए एक बाइक से पूरा परिवार सवार होकर निकला था। शाम हो जाने की वजह से शाम 6:30 बजे लगभग बस स्टॉप के पास के बस्तर लाज में पहुंचे थे। परिवार को रात को 9:00 बजे कमरे के अंदर जाते देखा गया था। जिसके बाद गुरुवार शाम तक रूम का दरवाजा नहीं खुला।



Post Views:
14

Related Articles

Back to top button