लॉकडाउन : इन देशों में फिर से लॉकडाउन की तैयारी…. कोरोना वायरस के मामलों में जबरदस्त वृद्धि… ठंड में कहर बनकर टूट सकता है वायरस

लॉकडाउन : इन देशों में फिर से लॉकडाउन की तैयारी…. कोरोना वायरस के मामलों में जबरदस्त वृद्धि… ठंड में कहर बनकर टूट सकता है वायरस


नयी दिल्ली 29 अक्टूबर 2020। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि पिछले हफ्ते पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 20 लाख से अधिक नये मामले सामने आए। कोविड-19 के साप्ताहिक विश्लेषण में डब्ल्यूएचओ ने कहा कि लगातार दूसरे हफ्ते यूरोपीय क्षेत्र में सबसे ज्यादा अनुपात में नये मामले सामने आए हैं। वायरस के मामलों में हो रही खतरनाक वृद्धि के चलते जर्मनी और फ्रांस बुधवार को नया लॉकडाउन घोषित करने को तैयार हैं। कोविड-19 रोगियों की संख्या में वृद्धि के चलते यूरोप के अस्पताल भरने लगे हैं।

फ्रांस में बाजार आज कम ही खुले क्योंकि राष्ट्रपति एमैन्युएल मैक्रों शाम के समय टेलीविजन पर प्रसारित राष्ट्र के नाम संबोधन में कड़े कदमों की घोषणा करेंगे। देश में डॉक्टर सरकार से यह उल्लेख करते हुए नया राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू करने का आह्वान कर रहे हैं कि देश में आधे से अधिक गहन चिकित्सा कक्ष अब कोविड-19 रोगियों से भरे हैं। मंगलवार को देश में महामारी से 523 और लोगों की मौत हो गई तथा 33,417 नए मामले सामने आए।

बेल्जियम, नीदरलैंड, स्पेन और चेक गणराज्य में भी संक्रमण के मामलों में इसी तरह की वृद्धि हो रही है। जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल भी देश के 16 राज्यों के गवर्नरों पर बुधवार को आंशिक लॉकडाउन की घोषणा करने का दबाव बना रही हैं। जर्मनी में नए प्रतिबंधों की योजना का विरोध हो रहा है और आतिथ्य क्षेत्र से जुड़े हजारों लोग बर्लिन के ब्रांडनबर्ग गेट क्षेत्र में प्रदर्शन कर रहे हैं।

बता दें कि पिछले एक हफ्ते में 13 लाख नये मामले सामने आए हैं जो पूरी दुनिया के नये मामलों का 46 फीसदी है। संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी ने कहा कि यूरोप में मरने वालों की संख्या भी बढ़ी है। पिछले हफ्ते की तुलना में मृतकों की संख्या में करीब 35 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

डब्ल्यूएचओ ने कहा, ‘‘हालांकि मरने वालों की संख्या में धीरे-धीरे बढ़ोतरी हो रही है लेकिन महामारी के शुरुआती चरण से तुलना करें तो मामलों की संख्या की तुलना में मृतकों का अनुपात अपेक्षाकृत कम है।’’ एजेंसी ने कहा कि यूरोप के 21 देशों में कोविड-19 के कारण अस्पताल में भर्ती होने और आईसीयू में भर्ती होने की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES