छत्तीसगढ़ की खबरे

रायपुर में हुई लूट का हुआ खुलासा, पीड़ित ही निकला वारदात का मास्टरमाइंड, आरोपी गिरफ्तार

रायपुर : थाना गंज क्षेत्रांतर्गत चूना भट्ठी फाफाडीह स्थित एक्सप्रेस-वे के नीचे हुये लाखों रूपये नगदी रकम लूट का चंद घंटों में ही खुलासा किया गया. पुलिस के मुताबिक प्रार्थी आकाश यादव ने थाना गंज में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह श्री राधे कृष्णा रियल स्टेट डेवल्पर्स कम्पनी गुढियारी पड़ाव मार्केट स्थित कम्पनी में मैनेजर का काम करता है, कंपनी के प्रमुख कान्हा शर्मा (बजारी) एवं शरद शर्मा है। कान्हा शर्मा का घर गुढ़ियारी पड़ाव में ही आफिस के उपर स्थित है तथा शरद शर्मा महेश कालोनी गुढ़ियारी रायपुर में रहते है।

प्रार्थी दिनांक 09.05.2022 को सुबह करीबन 11.00 बजे अपने आफिस से नगदी रकम 10,00,000/- (दस लाख रूपये ) जिसे कान्हा बजारी की माँ श्रीमती सुनीता बजारी ने अपने घर से निकाल कर कान्हा बजारी के कहने पर प्रार्थी को कान्हा शर्मा (बजार ), कान्हा शर्मा की पत्नी एवं उसकी माँ के बैंक खाता में जमा करने के लिए दिया था, कि प्रार्थी अपने मोपेड सुजुकी एक्सेस क्रमांक सी जी/04/एम एन/9406 से निकला था तथा रकम को अपनी गाडी की डिक्की में एक थैला में रखा था।

प्रार्थी चूनाभट्ठी के सामने एक्सप्रेस-वे सर्विस रोड से जा रहा था कि करीबन 11.10-11.20 बजे फाफाडीह मेन रोड से पहले पहुंचा था कि सामने से दो व्यक्ति आये और प्रार्थी को रोक कर मुक्का से मारे तो प्रार्थी उन लोगों को गाली गलौज किया तथा उसमें से एक व्यक्ति प्रार्थी के हाथ को पकड़कर मोड दिया उसी समय पीछे से एक व्यक्ति प्लेटिना मोटर सायकल में आया और प्रार्थी के मोपेड को ठोकर मारा तथा तीनों व्यक्ति मिलकर प्रार्थी को मारने लगे तथा उनमें से एक व्यक्ति ने नेलकटर जैसे वस्तु से मारा जिससे प्रार्थी के कमर के पास हल्का चोट लगा है तथा एक व्यक्ति जो मोटर सायकल से आया था ने प्रार्थी के मोपेड का चाबी को निकालकर डिक्की को खोलकर डिक्की में थैला में रखे नगदी रकम 10,00000/-( दस लाख रूपये) को जबरदस्ती लूट लिया तथा प्रार्थी के मोबाईल फोन कीमती 20,000/- रूपये को भी लूट कर फरार हो गये। जिस पर अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना गंज में अपराध क्रमांक 104/22 धारा 394 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

लाखों रूपये लूट की घटना को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल द्वारा गंभीरता से लेते हुये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर तारकेश्वर पटेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध अभिषेक माहेश्वरी, नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली अविनाश ठाकुर, प्रभारी एण्टी क्राईम एवं सायबर यूनिट गिरीश तिवारी, थाना प्रभारी गंज दुर्गेश रावटे तथा थाना प्रभारी खमतराई अश्वनी राठौर को अज्ञात आरोपियों की पतासाजी कर जल्द से जल्द गिरफ्तार करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में एण्टी क्राईम एवं सायबर यूनिट, थाना गंज तथा थाना खमतराई पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा अज्ञात आरोपियों की पतासाजी करना प्रारंभ किया गया।

टीम द्वारा प्रार्थी से घटना, आरोपियों के हुलियांे व उनके मोटर सायकल के संबंध में विस्तृत पूछताछ करते हुये आसपास के लोगों से भी पूछताछ किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा घटना स्थल व उसके आसपास लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों का अवलोकन करने के साथ ही तकनीकी विश्लेषण कर अज्ञात आरोपियों की पहचान सुनिश्चित करने के प्रयास किये जा रहे थे। प्रार्थी द्वारा टीम को बताया गया कि 02 व्यक्ति पहले प्रार्थी को रोके तत्पश्चात् एक व्यक्ति मोटर सायकल से आया तथा तीनों व्यक्ति प्रार्थी के साथ मारपीट कर मोपेड की डिक्की में रखें नगदी रकम एवं प्रार्थी के मोबाईल फोन को लूट कर फरार हो गये थे। जिस पर टीम के सदस्यों द्वारा प्रार्थी के बतायेनुसार उसके रकम लेकर आने के मार्गो के सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों का अवलोकन किया गया, परंतु घटनास्थल तक प्रार्थी के साथ इस प्रकार का कोई घटना होना नहीं दिख रहा था एवं घटना स्थल के आसपास के लोगों से भी पूछताछ करने पर उनके द्वारा इस प्रकार की कोई भी घटना घटित होना नहीं बताया जा रहा था।

प्रार्थी से पूछताछ करने पर बार – बार वह अपना बयान बदल कर लगातार टीम को गुमराह करने का प्रयास कर रहा था जिस पर आरोपियों की गिरफ्तारी में लगी टीम को प्रार्थी के उपर गहरा शक हुआ एवं टीम के सदस्यों द्वारा प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर प्रार्थी से कड़ाई से पूछताछ प्रारंभ किया गया जिस पर प्रार्थी ज्यादा देर अपने झूठ के सामने टिक न सका और अंततः अपने भतीजा जो विधि के साथ संघर्षरत बालक है, के साथ मिलकर रकम गबन करने की योजना बनाकर लूट की उक्त झूठी घटना को कारित करना स्वीकार किया गया।

आरोपी आकाश यादव ने पूछताछ में बताया कि वह कान्हा बजारी का बचपन का मित्र है तथा उसके साथ विगत 05 वर्षो से राधे कृष्णा रियल स्टेट डेवल्पर्स कम्पनी गुढियारी में कैशियर का काम कर रहा है, जो कंपनी का रकम लाने ले जाने का काम करता है। इसी दौरान कान्हा बजारी द्वारा आरोपी आकाश यादव को दिनांक घटना को नगदी रकम 10,00,000/- रूपये बैंक में जमा करने हेतु दिया गया था। आरोपी आकाश यादव के उपर ज्यादा कर्ज हो जाने से वह कुछ दिनों से ज्यादा परेशान था जिस पर आरोपी ने रकम गबन करने की योजना बना डाली तथा योजना में अपने भतीजे को शामिल किया।



Post Views:
9

Related Articles

Back to top button