”मैं हार गया, मुझे माफ कीजिएगा”…. और फिर लिपिक ने लगा ली फांसी… अधिकारियों पर लगाया मानसिक प्रताड़ना का आरोप…..

”मैं हार गया, मुझे माफ कीजिएगा”…. और फिर लिपिक ने लगा ली फांसी… अधिकारियों पर लगाया मानसिक प्रताड़ना का आरोप…..


गरियाबंद 15 अक्टूबर 2020। देवभोग तहसील में पदस्थ एक लिपिक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। लिपिक के शव के पास से पुलिस को एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। मृतक लिपिक ने सुसाइड नोट में अधिकरियों पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है। फिलहाल घटना की सूचना के बाद मौके पर पुलिस पहुंची ने शव को पीएम के लिये भेज दिया गया है।
घटना देवभोग थाना क्षेत्र की है। मृतक का नाम शुभम पात्र 25 है, जो देवभोग तहसील कार्यालय में लिपिक ग्रेड 3 के पद पर तैनात था। मृतक यहां पर अपने परिजनों के साथ किराए के मकान पर रहता था। सुबह परिजनो के द्वारा काफी खटखटाने के बाद भी जब मृतक ने अपने कमरे का दरवाजा नहीं खोला तो इसकी सूचना पुलिस को दी गयी। पुलिस ने नायब तहसीलदार की उपस्थिति में दरवाजे का ताला तोड़ा और शव को फंदे से निकाला गया। पुलिस को शव के पास से एक सुसाइड़ नोट भी मिला है। मृतक ने सुसाइड नोट में लिखा है…
”मैं शुभम कुमार पात्र सहा, ग्रेड 3 तहसील कार्यालय देवभोग मेरा मानसिक स्थिति ठीक नहीं है मैं तहसील कार्यालय देवभोग में रहते हुये अपने परिवार के दायित्वों के साथ ही पदस्थ तहसील कार्यालय देवभोग अपने कर्तव्य का निर्वहन साथ साथ नहीं कर पा रहा हूं। जिस कारण से मुझे मानसिक के साथ आर्थिक परेशानी भी हो रही है। साथ ही देवभोग में रहते हुये मै अपनी माताजी की देखभाल ठीक से नहीं कर पा रहा। आॅफिस में कार्य की अधिकता होती है और मेरे द्वारा अनुपस्थित अवधि का लिखित रूप् से सूचना देने पश्चात भी समझा नहीं जा रहा। अवकाश अवधि होने के बाद भी अनैतिक किया जाता है साथ ही स्वास्थ्य खराब होने से अनुपस्थित हाने से कार्यवाही हेतु पत्र उच्च अधिकारी को प्रेषित कर उत्पीड़न किया जा रहा है। मैं अपने कार्यो के कार्य अधिकता के साथ ही अपने परिवार माताजी का भी देखभाल नहीं कर पा रहा हूं। जिस वजह से आज मैं मानसिक परेशानी के चलते स्वंय इच्छा से मरने जा रहा हूं। मैं अपनी मानसिक परेशानी से हार गया मुझे माफ कीजिएगा।”

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES