फिर गरमाया तत्कालीन IG पवन देव छेड़छाड़ का मामला..महिला आयोग अध्यक्ष ने कहा..किया अधिकारों का गलत इस्तेमाल..60 पेज की शिकायत.. लिविंग रिलेशन मान्य नहीं..होगी जांच..जल्द करेंगी बैठक

फिर गरमाया तत्कालीन IG पवन देव छेड़छाड़ का मामला..महिला आयोग अध्यक्ष ने कहा..किया अधिकारों का गलत इस्तेमाल..60 पेज की शिकायत.. लिविंग रिलेशन मान्य नहीं..होगी जांच..जल्द करेंगी बैठक


बिलासपुर— प्रदेश महिला आयोग अध्यक्ष किरणमयी नायक ने कहा कि मुंगेली दौरा के बीच तात्कालीन आईजी पवन देव महिला आरक्षक छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। जानकारी मिली है कि पवन देव कानून का गलत तरीके से सहारा लेकर वर्तमान में पद पर काबिज है। जबकि उनके खिलाफ अपराध दर्ज किए जाने की अनुशंसा है। महिला आयोग अध्यक्ष ने कहा कि यह सच है कि कई मामले सामने आए हैं जहां  महिलाएं अधिकारों का गलत प्रयोग कर पुरूषों को परेशआन की है। लेकिन आयोग का काम है कि सच को सामने लाए। मजबूती के साथ केस तैयार कर दोषी को सजा दिलाने में मदद करे। मैं वकील भी हूं। इसलिए सारे दांव पेंच को अच्छी तरह से समझती हूं।

मुंगेली लोरमी का दौरा..समस्याओं की मिली विरासत

                    महिला आयोग अध्यक्ष किरणमयी नायक ने बताया कि एक दिन पहले मुंगेली और लोरमी दौरे पर थी। महिलाओं के साथ बैठक की..तीज मिलन कार्यक्रम में शिरकत की। रतनपुर पहुंचकर माता महामाया की दर्शन की। जल्द ही अगल महीने बिलासपुर में बैठक करूंगी। यहां की स्थिति से रूबरू होंगे। किरणमयी नायक ने पत्रकारों को जानकारी दी कि पद संभालने के बाद लगातार 6 घंटे कामकाज कर रही हूं।मुझे विरासत में साढ़े पांच सौ से अधिक मामले मिले है। उनका इस दौरान तेजी से निराकरण भी कर रही हूं। अभी भी पांच सौ से अधिक मामले लम्बित है।

अपराध दर्ज का आदेश

            एक सवाल के जवाब में प्रदेश महिला आयोग अध्यक्ष ने कहा कि उन्होने स्पष्ट किया है कि कई मामले अभी सामने नहीं आए है। इसके कई कारण भी हो सकते हैं। ऐसी पीड़ित महिलाओं को जिन्होने आवेदन नहीं किया है बेझिझक होकर सामने आए। उनकी जरूरी मदद करने के लिए तैयार हैं। ऐसा ही एक मामला मुंगेली में सामने आया है। नोटस तैयार कर अपराध दर्ज किए जाने का निर्देश हमने दिया है।

पवन देव ने किया कानून का गलत इस्तेमाल

                      सवाल जवाब के दौरान महिला आयोग अध्यक्ष ने कहा कि पवन देव से जुड़े छेड़छाड़ मामले में महिला आरक्ष ने शिकायत की है। जबकि मामला राष्ट्रीय मानवाधिकारी तक पहुंचा। तात्कालीन आईजी पवन देव के खिलाफ अपराध दर्ज किए जाने की अनुशंसा भी है। बावजूद इसके अपराध दर्ज नहीं हुआ है। हमें जानकारी मिली है कि उन्होने कानून का गलत इस्तेमाल कर स्टे लिया है। और अपने पद पर काबिज है। 50-60 पन्नों की शिकायत मिली है। इत्मीनान से अध्ययन करूंगी। मुझे लगता है कि महिला के साथ अन्याय हुआ है। महिला के साथ न्याय जरूर करूंगी।

विरासत का बोझ

               किरणमयी ने कहा कि हमें विरासत में साढ़े पांच सौ अधिक मामले मिले है। अच्छी तरह से जानती हूं कि देरी से मिला न्याय..अन्याय है। इसलिए तेजी से प्रकरण का निराकरण किया जाएगा।

हो रहा गलत इस्तेमाल..लेकिन न्याय में रहेगी पारदर्शिता

                 क्या महिला अधिकारों का हनन हो रहा है। सवाल के जवाब में प्रदेश महिला अध्यक्ष ने कहा कि इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है। कई उदाहरण मिले है। पुरूष भी अपना आवेदन लेकर आते है। लेकिन हमारी संवैधानिक बाध्यताएं है। ऐसे लोगों को निर्देश भी दिया है कि घर में मां बहन,भाभी और कई महिला रिश्तेदार होती है। पुरूषों की समस्याओं को आयोग के सामने यह लोग रख सकते है। प्रदेश महिला आयोग अध्यक्ष ने बताया कि मैने इस विषय पर डाक्टरेट किया है। मामले को अच्छी तरह से समझती हूं। इसलिए न्याय करने में परेशानी नहीं होगी। 

महिलाओं को आना होगा सामने

               पिछले 13 महीने और खासकर रेप के दिल दहलादेने वाले मामले सामने आए है। आखिर वजह क्या है। क्या इन मामलों पर न्याय होगा। किरणमयी नायक ने बताया कि पुलिस क्षेत्राधिकार में दखल नहीं दे सकते है। देखने में आया है कि 100 मामलों में तीन मामलों में ही न्याय मिलता है। वकील हूं…इसलिए अब मामलों को गंभीरता और प्रमाणिकता के साथ रखा जाएगा। कोई दोषी नहीं बचेगा। श्रीमती नायक ने बताया कि महिलाओं को सामने आना होगा। यदि वकील की मांग करती हैं तो उन्हें विधिक सहायता केन्द्र से सुविधा दी जाएगी।

इच्छामृत्यु की मांग..लिविंग रिलेशन को बताया गलत

                उन्होने कहा कि निश्चित रूप से बलात्कार के मामले बढ़े हैं। लेकिन मामले कुछ अलग भी है। रायपुर में एक महिला ने इच्छामृत्यु की मांग की है। यह मामला बिलकुल जुदा है। लिविंग रिलेशन के बाद दोनों के बीच जबरदस्ती शादी हुई। फिर दोनों अलग हो गए। अब महिला ने इच्छामृत्यु की मांग की है। लेकिन यह भी सही है कि हमारे देश में लिविंग रिलेशनशिप को स्थान नहीं है। मामले को समझा जाएगा।  प्रदेश महिला आयोग अध्यक्ष ने कहा तीन दिन पहले ही महिला आरक्षक ने दुष्कर्म की शिकायत की है। एफआईआर का आदेश दिया गया है।

मामले सामने लेकर आए

                 बिलासपुर में एड्स पीडित बच्चों की शिफ्टिंग के सवाल पर प्रदेश महिला आयोग अध्यक्ष ने कहा कि कोर्ट और शासन ने सभी एड्स पीडित बच्चों को सरकारी भवन में शिफ्ट करने का आदेश दिया है। जानकारी मिली है कि इस दौरान तनाव की स्थिति बनी है। यदि प्रियंका को शिकायत है तो उसे सामने आना होगा। श्रीमती नायक ने यह भी बताया कि हम सूमोटो भी मामले को संज्ञान में लेते है। यदि प्रियंका कुछ भी लिखित देती है तो मामले में हम जरूर उचिच कदम उठाएंगे।

                पत्रकार वार्ता के दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण सिंह चौहान. जिला ग्रामीण अध्यक्ष विजय केशरवानी, जिला शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रमोद नायक, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सीमा पाण्डेय, प्रवक्ता रिषि पाण्डेय, कार्यालय सचिव सुभाष सिंह समेत अन्य कांग्रेसी मौजूद थे।  इसके पहले प्रदेश कांग्रेस विधि विभाग प्रमुख संदीप दुबे ने किरणमयी नायक का अपने साथियों के साथ गुलदस्ता भेटकर स्वागत किया। साथ ही वस्तुस्थिति की जानकारी भी दी।

loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES