[prisna-google-website-translator]
world

पूर्व अंतरिक्ष यात्री की नासा को लताड़, कहा- मंगल मिशन 'बेहद हास्यास्पद'



चंद्रमा की परिक्रमा करने वाले पहले पुरुषों में से एक बिल एंडर्स ने कहा है कि मंगल पर मानव मिशन की योजना ‘मूर्खतापूर्ण’ है. एंडर्स, पृथ्वी की कक्षा छोड़ने वाले पहले मानव अंतरिक्ष यान ल्यूनर मॉड्यूल अपोलो 8 के पायलट हैं. उन्होंने कहा कि मंगल पर चालक दल भेजना ‘लगभग हास्यास्पद’ था.

नासा चांद पर नए मानव मिशन तैयारी कर रहा है इसके बाद ही एंडर्स की ये टिप्पणी आई है. साथ ही नासा मंगल पर भविष्य के मानव लैंडिंग को सक्षम करने के लिए स्किल डेवेलप करना और प्रौद्योगिकी विकसित करना चाहता है.

एनडीटीवी के मुताबिक एंडर्स की टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया के लिए नासा से संपर्क किया गया था, लेकिन उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

85 वर्षीय एंडर्स ने कहा कि वह ‘उल्लेखनीय’ मानवरहित कार्यक्रमों के ‘बड़े समर्थक’ हैं. ‘मुख्यतः इसलिए क्योंकि वे बहुत सस्ते हैं.’ लेकिन उन्होंने कहा कि बहुत अधिक महंगे मानव मिशन के लिए सार्वजनिक फंड नहीं थे.

मिशन मार्स क्या जरुरी है?

उन्होंने कहा- ‘क्या जरूरी है? हमें मंगल पर जाने के लिए क्या प्रेरित कर रहा है? मुझे नहीं लगता कि जनता की इसमें कोई दिलचस्पी है.’

रोबोट मंगल ग्रह की जांच करते रहे हैं. नवंबर में, ग्रह के इंटीरियर का नमूना लेने वाला इनसाइट लैंडर सफलतापूर्वक एलीसियम प्लैनिटिया पर उतर चुका है.

दिसंबर 1968 में, एंडर्स ने क्रू के साथी फ्रैंक बोरमैन और जिम लवेल के साथ चंद्रमा के चारों ओर 10 परिक्रमाएं पूरी करने के लिए, फ्लोरिडा के केप कैनवेरल में सैटर्न फाइव से उड़ान भरी थी. अपोलो 8 के चालक दल ने पृथ्वी पर लौटने से पहले कक्षा में 20 घंटे बिताए थे.

Live Share Market

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker