Hamar Chhattisgarh

जिला मुख्यालय में प्रेस वार्ता में दी जानकारी, 26 जनवरी को 50 पंचायत सचिवों ने मुख्यमंत्री निवास के सामने दी आत्मदाह की चेतावनी

बलौदाबाजार – छत्तीसगढ़ पंचायत सचिव संघ के आह्वान पर अपनी एक सूत्रीय मांगों को लेकर विगत 26 दिसम्बर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे छत्तीसगढ़ पंचायत सचिव के प्रांताध्यक्ष तुलसी साहू ने आज बलौदाबाजार में प्रेसवार्ता किया । छत्तीसगढ़ में 2 सालों के कार्यकाल पूरा कर चुके पंचायत सचिवों को शासकीय करण करने की एक सूत्रीय मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे है । मांगे नही मानने पर बूढ़ा तालाब रायपुर में पूरे प्रदेश के सचिवों द्वारा भूख हड़ताल एवम 26 जनवरी को 50 पंचायत सचिवों ने मुख्यमंत्री निवास के सामने आत्मदाह करने की चेतावनी दी है

प्रेसवार्ता में तुलसी साहू ने बताया कि पूरे प्रदेश में 21 हजार पंचायत सचिव है जिनकी नियुक्ति 1995 में हुई थी जो महज 500 रुपये माह में काम किये है ।आज पूरे 21 हजार सचिवों के परिवार का भविष्य अंधकारमय दिखाई दे रहा है । कोरोना काल मे 28 पंचायत सचिव ने अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए मौत के गाल में समा गए लेकिन सरकार उनके परिवार से मिलने तक नही गया । श्री साहू ने कहा कि शिक्षा कर्मियों को आज शासकीय करण कर जो कार्य किया है वैसा ही पंचायत सचिवों का शासकीय करण करने की मांग को पूरी कर ताकि हमारे परिवार का भरण पोषण किया जा सके ।

ज्ञात हो कि पूरे प्रदेश में पंचायत सचिवों के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने से ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्य पूरी तरह से चरमा गयी है । करारोपण अधिकारी को 20-30 पंचायतों को कार्यभार दिया गया लेकिन वह 2 दिन में ही अपना हाथ समेट लिया है और पंचायत सचिवों के हड़ताल का समर्थन कर दिया । अब देखना है कि सरकार पंचायत सचिवों की मांग को पूरा करती है या उनके उम्मीदों पर पानी फेर दिया जाएगा । बहरहाल पंचायत सचिव संघ आंदोलन को वापस लेने से साफ इंकार कर रही है ।

Live Share Market

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES