छत्तीसगढ़ की खबरे

क्यूँ सुपर हिट रहती हैं सतीश जैन की फिल्मे चल हट कोनो देख लिही का प्रदर्शन 13मई से

सतीश जैन की रंगारंग प्रस्तुति

रायपुर : 2.5 करोड़ जनसँख्या वाला छत्तीसगढ़ प्रदेश जहाँ मनोरंजन प्रदर्शित करने वाले थिएटर की संख्या बहुत कम हैं ,फिल्मो का लगातार बनना लगभग 150 फिल्मे अब तक प्रदर्शित होना इसमें सफलता का प्रतिशत बहुत कम है ,गिने चुने निर्देशकों की फिल्मे अपना पैसा वसूल कर पाई हैं ,बावजूद इसके इंडस्ट्री को आगे ले जाने का जूनून यहाँ के लोगों में बना हुआ है ,दरअसल काम थिएटर की संख्या वाले प्रदेश में फिल्म की सफलता के लिए कुछ अलग से करने की बात सामने आती है .

चल हट कोनो देख लिही
चल हट कोनो देख लिही

दर्शक आपसे उम्मीद बना के रखता है आप कुछ अलग करें ,सतीश जैन प्रेम चंद्राकर मनोज वर्मा के अलावा उत्तम तिवारी ,प्रणव झा ,लखु सुंदरानी अनुपम वर्मा ,शैलेन्द्र धार दिवान की फिल्मे भी उल्लेखनीय रही हैं ,बात जब अच्छे व्यवसाय की होती है वहां शीर्ष पर सतीश जैन का नाम आता है ,उच्च शिक्छा प्राप्त मुंबई में रहकर अपना मुकाम बनाने वाले सतीश जैन अपना सारा अनुभव लेकर छत्तीसगढ़ लौटे और यहाँ की फिल्मो के लिए काम करना शुरू किया,जूनून हिम्मत दूर दृस्ता ने इनको एक मुकाम पर लेकर खड़ा किया है ,उनकी फिल्मो की खासियत ये रही है वो दर्शकों की पसंद को अपनी पसंद बनाते हैं .

घर परिवार ,सूंदर सी प्रेम कथा , सामाजिक सरोकार का विषय ,और संगीत में उनकी महारथ उनकी फिल्मो को
विशेष बनाती हैं ,चल हट कोनो देख लिही उनकी अगली फिल्म है जिसमे प्रयोग के साथ खूबसूरत गीतों के साथ रोमांच से भर देने वाली कहानी भी है ,दर्शकों की दीवानगी इस बात को लेकर भी है हंस जहां पगली के बात फिर एक बेहतरीन फिल्म दर्शकों को मिलने जा रही है ,बहरहाल बतौर सतीश जैन एक उम्दा फिल्म है जो दर्शकों की उम्मीदों पर खरा उतरेगी ,बहुत विश्वास से वो कहते हैं , उम्मीद करते हैं खड़ी होती फिल्म इंडस्ट्री को एक आधार नुमा सीढ़ी और मिलेगी ,,



Post Views:
2

Related Articles

Back to top button