कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी बोले – 2030 तक भारत में 100 मिलियन टन कोल गैसीफिकेशन का लक्ष्य

कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी बोले – 2030 तक भारत में 100 मिलियन टन कोल गैसीफिकेशन का लक्ष्य

[ad_1]

केंद्रीय कोयला एवं खान मंत्री श्री प्रल्हाद जोशी ने सोमवार को कहा कि 04 लाख करोड़ रुपए से अधिक के निवेश के साथ भारत ने वर्ष 2030 तक 100 मिलियन टन ;एमटीद्ध कोल गैसीफिकेशन करने का लक्ष्य रखा है। श्री जोशी कोल गैसीफिकेशन एवं लिक्विफैक्शन पर कोयला मंत्रालय द्वारा आयोजित एक वेबीनार को संबोधित कर रहे थे।

100 एमटी कोल गैसीफिकेशन लक्ष्य को हासिल करने हेतु एक रोडमैप तैयार करने के लिए आयोजित इस कार्यक्रम में श्री जोशी ने कहा कि कोल गैसीफिकेशन एवं लिक्विफैक्शन अब एक महत्वाकांक्षा मात्र नहीं हैए बल्कि आज के समय की जरूरत है। ईंधन के क्लीन स्रोतों के अधिकाधिक इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कोल गैसीफिकेशन में इस्तेमाल होने वाले कोयले के राजस्व को साझा करने में 20ः की छूट देने का प्रावधान किया है। इससे सिंथेटिक नैचुरल गैसए एनर्जी फ्यूलए बतौर उर्वरक उपयोग हेतु यूरिया और दूसरे रसायनों के उत्पादन को भी बढ़ावा मिलेगा।

कोयला क्षेत्र में ग्रीन एवं क्लीन टेक्नॉलजी के उपयोग को बढ़ावा देने की सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए श्री जोशी ने कहा कि कोल गैसीफिकेशन एवं लिक्विफैक्शन सरकार की प्राथमिकता में हैं और भारत में सरफेस कोल गैसीफिकेशन के विकास हेतु कई कदम उठाए गए हैं। इस संबंध में नीति आयोग के सदस्य डॉण् वीण् केण् सारस्वत की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया हैए जिसमें कोयला मंत्रालय के सदस्य भी शामिल हैं। कोल इंडिया लिमिटेड ;सीआईएलद्ध की कम से कम 03 कोल गैसीफिकेशन प्लांट्स ;दानकुनि के अतिरिक्तद्ध लगाने की योजना है और कंपनी ने सिंथेटिक नैचुरल गैस की मार्केटिंग के लिए गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड ;गेलद्ध के साथ एक एमओयू किया है।

श्री जोशी ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों से इस क्षेत्र में देश की खूबियों एवं खामियों को मद्देनजर रखते हुए कोल गैसीफिकेशन क्षेत्र से जुड़े तकनीकी एवं दूसरे आयामों की छानबीन करने का आह्वान किया। इससे हमें वैश्विक मानकों के अनुरूप निरंतरता के साथ देश के कोयला भंडार का अधिकतम उपयोग करने में मदद मिलेगी।
नीति आयोग के सदस्य डॉण् वीण् केण् सारस्वतए भारत सरकार के सचिव ;कोयलाद्ध श्री अनिल कुमार जैनए सीआईएल के निदेशक ;तकनीकीद्ध श्री बिनय दयालए सीआइएमएफआर के निदेशक डॉण् पी के सिंहए पीडीआइएल के महाप्रबंधक श्री आशुतोष प्रसादए जेएसपील के चेयरमैन श्री नवीन जिंदलए मुंदरा सिनर्जी के सीईओ श्री राजेश झाए जेएसपीएल के एमडी डॉण् वी आर शर्माए ट्रू नॉर्थ वेंचर्स के पार्टनर डॉण् देव गावस्करए एयर प्रोडक्टस के ग्रुप वीपी श्री बॉब कार्टरए एयर प्रोडक्टस के टेक्निकल मैनेजर श्री रॉबर्ट वान डेन बर्ग और कोयला मंत्रालय के समन्वयक श्री पीयूष कुमार ने भी वेबीनार को संबोधित किया। कार्यक्रम में भारत सरकार एवं कोल इंडिया के अधिकारियों और कोयला क्षेत्र से जुड़े अनुभवी लोगों एवं प्रतिनिधियों सहित लगभग 700 प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES