[prisna-google-website-translator]
Hamar Chhattisgarh

कायाकल्प अवार्ड में मुंगेली जिला अस्पताल प्रदेश में अव्वल, रायपुर को मिला द्वितीय स्थान

रायपुर,12 जनवरी 2021। ”कायाकल्प –स्वच्छ अस्पताल योजना ” वर्ष 2019-20 के तहत प्रदेश स्तर पर मुंगेली के जिला अस्पताल को प्रथम और रायपुर जिला अस्पताल को द्वितीय पुरस्कार मिले हैं। जिला अस्पतालों में 7 अस्पतलों में कोरबा, जशपुर, बीजापुर, बलौदाबाजार, जगदलपुर, नारायणपुर, कांकेर और जांजगीर-चांपा को संतावना पुरस्कार मिला है। राज्य क्वालिटी एश्यूरेंस कमेटी द्वारा कायाकल्प अवार्ड के लिए जिला अस्पताल का चयन हुआ है।

नैशनल हेल्थ मिशन (एनएचएम) के डिप्टी डायरेक्टर डॉ सुरेंद पामभोई ने बताया, चिकित्सा सुविधाओं का आंकलन कर स्वास्थ्य केंद्रों को प्रोत्साहित करने केंद्र सरकार की ओर से प्रत्येक वर्ष इस योजना के तहत विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कार दिया जाता है। विशेषज्ञों की टीमें अस्पताल आकर 200 बिंदुओं पर मूल्यांकन करती है। उन्होंने बताया 70 फीसदी से ऊपर अंक प्राप्त करने वाले अस्पतालों को विभिन्न श्रेणियों में सम्मानित किया जाता है। प्रथम श्रेणी में जिला अस्पताल स्तर पर मुंगेली जिला अस्पताल को 86.8 प्रतिशत तो रायपुर जिला अस्पताल को 85.9 प्रतिशत अंक प्राप्त हुए हैं।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र

कायाकल्प के द्वितीय श्रेणी के पुरस्कारों में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (ग्रामीण) स्तर पर प्रथम स्थान मुंगेली जिले के लोरमी सीएचसी को 87.7 प्रतिशत अंकों के साथ , द्वितीय स्थान पर दुर्ग के पाटन सीएचएसी ने 86.8 प्रतिशत अंक और रायपुर के शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र श्रेणी में सीएचसी गुढियारी ने 73.6 प्रतिशत अंकों के साथ प्रथम स्थान प्राप्त किया।

तृतीय श्रेणी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हीरापुर को प्रथम व बिलासपुर के शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बंधवापारा को 92.31 प्रतिशत के साथ पुरस्कार मिल रहा है। कायाकल्प के चौथे श्रेणी में जिला स्तर पर प्राथमिक स्वस्थ्य केंद्रों में मंदिर हसौद पीएचसी को 98.3 प्रतिशत, धमतरी के चटौद को 90.0 प्रतिशत, महासमुंद के पटेवा को 86.9 प्रतिशत, राजनांदगांव के दो पीएचसी रामटोला व सरगी को 94.17 प्रतिशत, कर्वधा के कुंडा को 87.8 प्रतिशत,गरियाबंद के कोपरा पीएचसी को 81.1 प्रतिशत, बलौदाबाजार के गोपालपुर पीएचसी को 94.4 प्रतिशत, बेमेतरा के देवरबीजा पीएचसी को 85.8 प्रतिशत,

बिलासपुर के नवागांव सकला

बिलासपुर के नवागांव सकला को 92.50 प्रतिशत व कोटमी पीएचसी को 92.50 प्रतिशत, मुंगेली के पंडेरभांठा को 99.4 प्रतिशत, कोरबा के तुमान को 90 प्रतिशत, रायगढ के बेडवान को 80 प्रतिशत, जांजगीर के राहौद को 85.3 प्रतिशत, बस्तर के अडावल को 80.3 प्रतिशत, कोंडागांव के अडेंगा को 95 प्रतिशत, कांकेर के बसंवाही को 87.8 प्रतिशत, नारायणपुर के बेनुर को 86.1 प्रतिशत, बलरामपुर के जामवंतपुर को 90.3 प्रतिशत, सरगुजा के अजबनगर को 89.7 प्रतिशत, कोरिया के हल्दीबाड़ी को 82.8 प्रतिशत, जशपुर के भेलवान को 90.8 प्रतिशत, दंतेवाड़ा के पोटाली को 78.9 प्रतिशत अंक के साथ विजेता घोषित किए गए हैं। पांचवी श्रेणी में उपस्वास्थ्य केंद्र स्तर पर मुंगेली जिले के टेमरी को 95 प्रतिशत के साथ प्रथम स्थान और रायपुर के चंडी व कटिया को पुरस्कार मिलेंगे।

आज दोपहर को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने वर्चुअल रुप से पुरस्कार देने की घोषणा की है। राज्य स्तरीय कायाकल्प अवार्ड को जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व उपस्वास्थ्य केंद्र स्तर में बेहतर चिकित्सकीय सुविधा, साफ-सफाई के लिए कायाकल्प के तहत प्रशस्ति अवार्ड के लिए चुना गया है।

राज्य स्तर पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा कायाकल्प अवार्ड समारोह आगामी मार्च महीने में आयोजन कर पुरस्कारों के साथ इनाम की राशि प्रदान करेगी। कायाकल्प अवार्ड 2019-20 के अंतर्गत 10 जिला अस्पतालों, 31 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, एक शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, 153 प्राथमिक स्वास्थ्य केद्रों, 12 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं 67 उपस्वास्थ्य केंद्रों (हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर) को 70 फीसदी से अधिक अंक हासिल करने पर विजेता के रुप में चयन किया गया है।

Live Share Market

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Live Updates COVID-19 CASES

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker