खास खबर

इन राशि के लोगों के लिए अपशकुन होता है काला धागा, गलती से भी बांध दिया तो……..

जब किसी को बुरी नजर या बुरी शक्तियां परेशान करती हैं तो उन्हें काले धागे को बांधने की सलाह दी जाती है. हालांकि ज्योतिष के मुताबिक काला धागा हर किसी के लिए शुभ साबित नहीं होता है.

अक्सर लोगों को हाथ या पैर में काला धागा बांधे देखा जाता है जिसके लोगों के अनुसार अपने-अपने अलग कारण हैं और जिससे विभिन्न मान्यताएं जुड़ी हैं. कुछ लोगों का मानना है कि काला धागा (Kala Dhaga) बांधने से नकारात्मकता उनसे दूर रहती है, कुछ कहते हैं कि इससे नजर नहीं लगती तो कुछ हाथ या पैरों के दर्द से निवारण का कारण देते हुए काला धागा बांधना पसंद करते हैं. वहीं, ग्रहों की दिशा और राशि (Zodiac Signs) के आधार पर भी काला धागा (Black Thread) बांधा जाता है.

कई बार लोग अनजाने में शौक के चलते भी काला धागा बांध लेते हैं जबकि धार्मिक दृष्टि से काले धागे को इस तरह बिना सोचे-समझे पहननने की भूल नहीं करनी चाहिए. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ऐसी दो राशियां हैं जिनका काला धागा पहनना बेहद अशुभ माना जाता है. चाहे काले धागे पर किसी तरह का लॉकेट या भगवान की प्रतिमा ही क्यों ना लगा ली जाए लेकिन इन दो राशि के जातकों का काला धागा पहनना अनिष्ट घटने का संकेत माना जाता है. इनका जीवन मुश्किलों से भरा होने के आसार बढ़ जाते हैं.

इन दो राशियों को नहीं बांधना चाहिए काला धागा

वृश्चिक (Scorpio)
माना जाता है कि वृश्चिक राशि पर मंगल ग्रह का आधिपत्य होता है. मंगल ग्रह को धार्मिक मान्यतानुसार मंगल देव भी कहते हैं. मंगल ग्रह का काले रंग से बैर माना जाता है. इस चलते इस राशि के जातकों को काला धागा पहनने से परहेज करने की सलाह दी जाती है.

मेष (Aries)
वृश्चिक राशि की ही तरह मेष राशि के स्वामी भी मंगल देव अथवा मंगल ग्रह हैं. काले रंग से मंगल देव रुष्ट हो जाते हैं इसलिए मेष राशि के लोगों को भी हाथ या पैर में काला धागा नहीं बांधना चाहिए. इतना ही नहीं, माना जाता है कि इस राशि के लोग यदि काला धागा पहनें तो जीवन में परेशानियां कई गुना बढ़ सकती हैं.



Post Views:
20

Sach News Desk

देश में तेजी से बढ़ती हुई हिंदी समाचार वेबसाइट है। जो हिंदी न्यूज साइटों में सबसे अधिक विश्वसनीय, प्रमाणिक और निष्पक्ष समाचार अपने पाठक वर्ग तक पहुंचाती है। इसकी प्रतिबद्ध ऑनलाइन संपादकीय टीम हर रोज विशेष और विस्तृत कंटेंट देती है। हमारी यह साइट 24 घंटे अपडेट होती है, जिससे हर बड़ी घटना तत्काल पाठकों तक पहुंच सके। पाठक भी अपनी रचनाये या आस-पास घटित घटनाये अथवा अन्य प्रकाशन योग्य सामग्री ईमेल पर भेज सकते है, जिन्हें तत्काल प्रकाशित किया जायेगा !

Related Articles

Back to top button